सट्टा बाजार में भी जीत रही BJP, लेकिन सीटों में इतना हो सकता है नुकसान

कई एक्जिट पोल के नतीजे बताते हैं कि राजग को 312, संप्रग को 110 और अन्य को 98 सीटें मिल सकती हैं.

नई दिल्‍ली: एक्जिट पोल के ज्यादातर नतीजों की तरह सट्टा बाजार में भी 2019 लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत बताई जा रही है, लेकिन वे एक्जिट पोल की तुलना में कुछ कम सीटें दे रहे हैं. सात चरणों में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में कई शहरों के सट्टा बाजार भाजपा को 238 से 245 सीटें दे रहे हैं. राजस्थान में सट्टेबाज भाजपा को 242-245 सीटें दे रहे हैं, जबकि दिल्ली के सट्टा बाजार में यह संख्या 238-241 है. करीब-करीब यही आंकड़ा मुंबई का भी है.

वर्ष 2014 के चुनाव में भाजपा ने 282 सीटें जीती थी, जबकि अन्य सहयोगी दलों के साथ राजग की कुल 336 सीटें थीं. ज्यादातर एक्जिट पोल में भाजपा को अकेले बहुमत के करीब दिखाया गया है, वहीं सट्टा बाजार में यह आंकड़ा कुछ कम है. लेकिन राजग को वे पूर्ण बहुमत दे रहे हैं. टीवी9 भारतवर्ष-सीवोटर के एक्जिट पोल में भाजपा को 236 सीटें मिलने का अनुमान है. यह सट्टा बाजार के आकलन के करीब है.

सट्टा बाजार के मुताबिक कांग्रेस का क्‍या होगा?

सट्टा बाजार का मानना है कि कांग्रेस 75-82 सीटें जीत सकती है. कई एक्जिट पोल के नतीजे बताते हैं कि राजग को 312, संप्रग को 110 और अन्य को 98 सीटें मिल सकती हैं.

आजतक और एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल में उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा-रालोद को 10-16, टाइम्स नाउ-वीएमआर के सर्वे में गठबंधन को 20, सीवोटर के सर्वे में 40, एबीपी नील्‍सन के सर्वे में 40 और आजतक ई चुनाव के सर्वे में 13 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है.

ये भी पढ़ें

एग्जिट पोल में मोदी वापसी के संकेत से झूमा बाजार, निवेशको की पूंजी 5.33 लाख करोड़ बढ़ी

Twitter पर कांग्रेस आगे तो Facebook पर BJP, जानिए विज्ञापनों पर किसने लुटाई कितनी रकम