पति की हैसियत से लखनऊ आए शत्रुघ्न सिन्हा, अखिलेश में दिखा लीडर: पूनम सिन्हा

पूनम सिन्हा ने कहा कि मैंने कभी टिकट के लिए किसी से बात नहीं की. मैं एक जिम्मेदारी को लेकर राजनीति में आई हूं.


लखनऊ: उत्तर प्रदेश की लखनऊ लोकसभा सीट पर सोमवार को मतदान जारी है. इस बीच लखनऊ से समाजवादी पार्टी (सपा) की उम्मीदवार और शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा ने टीवी 9 भारतवर्ष से खास बातचीत की है. पूनम का कहना है कि वो खुद को इस बात के लिए खुशकिस्मत मानती हैं कि अखिलेश यादव ने उन्हें सपा से टिकट दिया है.

‘अखिलेश के रूप में लीडर मिला’
पूनम ने कहा, “मैं खुशकिस्मत हूं कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मुझे टिकट दिया. अखिलेश यादव के रूप में मुझे वो नेता मिल गया जिसे मैं फॉलो करने के लिए खोज रही थी.”

उन्होंने कहा कि मैंने कभी टिकट के लिए किसी से बात नहीं की. मैं एक जिम्मेदारी को लेकर राजनीति में आई हूं. मुझे अखिलेश में एक लीडर दिखा. अखिलेश का काम बोलता है. लखनऊ की जनता हमें इसी पर वोट देगी. आज लोग यह सोच रहे हैं कि पिछली बार उन्होंने अखिलेश को क्यों नहीं लाया.

‘राजनीति में आने का समय आ गया’
पूनम ने कहा कि मुझे लगा कि राजनीति में आने का समय आ गया है. जब जनता खुश नहीं हो तो अच्छे लोगों को अपनी आवाज उठाने के लिए राजनीति में आना चाहिए. मेरे पति आवाज उठाने के लिए मशहूर हैं.

उन्होंने कहा, “लखनऊ सीट पर किसी का नाम नहीं लिखा हुआ है. यहां पर और भी लोग आ सकते हैं. मैं यहां इसलिए आई हूं क्योंकि लोग बदलाव चाहते हैं. 2014 में जो सरकार चुनकर आई उसने अपने वादे पूरे नहीं किए.”

‘हर कोई मंझ के आता है क्या?’
पूनम ने सवाल किया कि जितने लोग राजनीति में आते हैं वो एकदम मंझ के आते हैं क्या? वो पूरी तरह से तैयार होते हैं क्या? हर कोई कभी न कभी नया तो होता ही है. इसका मतलब यह नहीं कि नए लोग पुराने को हरा नहीं सकते हैं.

उन्होंने कहा कि शत्रुघ्न सिन्हा मेरे पति की हैसियत में लखनऊ में मेरा चुनाव प्रचार करने आए थे. मेरे पति नहीं आएंगे तो कौन आएगा. मैंने सबको कह दिया है कि मैं जीतूगीं और यहां पर रहकर काम करूंगी.

Read Also: 51 सीटों पर VOTING LIVE: सुबह 10 बजे तक बिहार में 11.51, एमपी में 13.18 फीसदी वोटिंग