पूरी हुई मन्नत, 14 किमी पैदल चलकर सिद्धिविनायक पहुंचीं स्मृति ईरानी

अमेठी पिछले 39 सालों से गांधी परिवार का गढ़ रहा है, बावजूद इसके स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को 55,120 वोटों से हराकर जीत हासिल की है.

मुंबई: अमेठी में अपनी जीत के कुछ दिनों बाद ही भारतीय जनता पार्टी की नेता स्मृति ईरानी ने नंगे पैर 14 किलोमीटर चलकर सिद्धि विनायक मंदिर तक अपनी यात्रा पूरी की. इस दौरान स्मृति के साथ उनकी पुरानी दोस्त निर्माता एकता कपूर भी थीं.

एकता कपूर मशहूर टीवी शो ‘क्योंकि सास भी बहू थी’ की निर्माता रह चुकी हैं और इसी कार्यक्रम ने स्मृति को हिंदुस्तान के घर-घर में मशहूर बना दिया था.

एकता ने मंगलवार को स्मृति संग एक तस्वीर को साझा करते हुए लिखा, “14 किलोमीटर तक सिद्धि विनायक के बाद का ग्लो.”

View this post on Instagram

14 kms to SIDDHI VINAYAK ke baaad ka glow 😂

A post shared by Erk❤️rek (@ektaravikapoor) on

इस पर स्मृति ने कमेंट किया, “यह भगवान की इच्छा है, भगवान दयालु हैं”, इसके बाद एकता ने लिखा, “तुमने बिना जूते के इस यात्रा को पूरा किया! तुम्हारी इच्छा शक्ति अपार है.”

स्मृति के पैरों पर कैमरे को जूम करते हुए एकता ने कहा, “हम सिद्धि विनायक जा रहे हैं और वह (स्मृति) जूते के बिना चल रहीं हैं. 14 किलोमीटर बिना जूते के, यकीन नहीं आता.”

अभी कुछ दिन पहले एकता ने ‘क्योंकि सास भी बहू थी’ के टाइटल ट्रैक की कुछ पंक्तियों को लिखकर स्मृति को उनकी जीत की बधाई दीं थीं.

हाईप्रोफाइल अमेठी सीट पर स्मृति ने राहुल गांधी को 55,120 वोटों से पराजित किया. अमेठी पिछले 39 सालों से गांधी परिवार का गढ़ रहा है, बावजूद इसके स्मृति ईरानी को जीत का सरताज हासिल हुआ है. इससे पहले संजय गांधी 1977 में इस सीट से हारे थे.