तेजप्रताप यादव के बाउंसर्स का मीडिया पर हमला, गाड़ी के नीचे आ गया था कैमरामैन का पैर

तेज प्रताप यादव ई-रिक्शा से वोट डालने के लिए पोलिंग बूथ पर पहुंचे थे, लेकिन वोट डालने के बाद वे अपनी गाड़ी से वापस निकल रहे थे कि तभी इस बीच ये हंगामा हो गया.

पटना: लोकतंत्र के महापर्व में आज आखिरी चरण के लिए 59 सीटों पर मतदान जारी हैं. वहीं मतदान के बीच बिहार से एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां पर पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव के बाउंसर्स ने मीडिया वालों के साथ मारपीट की है.

इतना ही नहीं तेज प्रताप यादव ने मीडिया कर्मियों से एफआईआर कराने की धमकी भी दी है. यह घटना उस वक्त की है जब तेज प्रताप यादव पोलिंग बूथ पर वोट डालने के लिए पहुंचे थे. लालू के लाल वोट डालने के लिए ई-रिक्शा से पोलिंग बूथ पर पहुंचे थे, लेकिन वापस वे अपनी गाड़ी से निकले.

पोलिंग बूथ पर वोट डालने के बाद तेज प्रताप यादव जब निकलने लगे तो मीडियाकर्मियों ने उनसे बातचीत करनी चाही. तेज प्रताप यादव ने उनसे बात तो नहीं की और जब वे वहां से निकलने लगे तो एक पत्रकार के पैर पर उनकी गाड़ी चढ़ गई.

इसके बाद धक्का-मुक्की में उनकी गाड़ी का शीशा टूट गया, जिसके बाद तेज प्रताप के सुरक्षाकर्मियों ने मीडिया के लोगों पर हमला कर दिया. इस हमले में कई पत्रकारों को चोट भी आई हैं. जिस पत्रकार के पैर पर गाड़ी चढ़ी उसने बताया कि जब पैर गाड़ी के नीचे आ गया था तो वे शीशे पर गाड़ी रोकने के लिए हाथ मार रहे थे. उन्हें नहीं पता कि गाड़ी का शीशा कैसे टूटा. गाड़ी का शीशा टूटने के बाद तेज प्रताप के बाउंसर आ गए. पत्रकार को पैर गाड़ी के नीचे दबा हुआ था और तेज प्रताप के बाउंसर उन्हें पीटे जा रहे थे.

इसके बाद जिन भी पत्रकारों ने पीड़ित पत्रकार की मदद करने की कोशिश की तेज प्रताप के बाउंसर ने उनके साथ भी मारपीट कर दी. इससे गुस्साए तेज प्रताप ने पत्रकारों को धमकाते हुए कहा कि वे सभी भी केस दर्ज कराएंगे और जेल भिजवानी की धमकी भी दी.

वहीं इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए तेज प्रताप ने कहा, “हमारी हत्या करवाना चाहते हैं. पहले इन्होंने हमपर हमला किया. हमारे ड्राइवर पर हमला कर दिया गया.” तेज प्रताप से जब ये कहा गया कि आपकी गाड़ी में पत्रकार का पैर आ गया था, तो इस पर तिलमिलाते हुए उन्होंने कहा, “इसमें आप लोगों की गलती है, जब मालूम है कि गाड़ी है.”

एएनआई से बातचीत के दौरान तेज प्रताप ने कहा, “मेरे बाउंसर्स ने कुछ नहीं किया है. मैं वोट डालकर निकल रहा था जब फोटोग्राफर ने मेरी गाड़ी की विंडस्क्रीन पर हमला किया. मैंने घटना की एफआईआर कर दी है. यह मेरी हत्या करना का एक षड़यंत्र है.”

Tej pratap yadav, तेजप्रताप यादव के बाउंसर्स का मीडिया पर हमला, गाड़ी के नीचे आ गया था कैमरामैन का पैर