अमेठी में राहुल, मैनपुरी में मुलायम की सीट पर फंसा पेंच, जानें UP की हाई प्रोफाइल सीटों का हाल

एग्जिट पोल 2019 के नतीजे बता रहे हैं कि यूपी की वीवीआईपी सीटों पर कड़ा मुकाबला होने वाला है. कई दिग्गज नेताओं को इस बार कड़ी चुनौती मिल रही है.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे आज थोड़ी ही देर में घोषित होने वाले हैं. देश भर की नजर इस पर बनी हुई है. अलग-अलग पार्टियां अपनी-अपनी जीत के दावे कर रही हैं. एग्जिट पोल्स में एनडीए को बहुमत मिलता दिख रहा है जबकि यूपीए और अन्य पार्टियां इन दावों को खारिज कर रही हैं. देश भर में ऐसी कई हाई प्रोफाइल सीटें हैं जिन पर कांटे की टक्कर होने की संभावना है.

इस बीच सबकी नजर उत्तर प्रदेश पर भी टिकी हुई है. यूपी में लोकसभा की 80 सीटें हैं. कहते हैं कि दिल्ली का रास्ता यूपी से होकर गुजरता है. यूपी में कई ऐसी सीटें हैं जिन पर विभिन्न पार्टियों के बड़े नेताओं के बीच सीधा मुकाबला है. सभी नेता इन पर अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं. चलिए जानते हैं कि एग्जिट पोल के मुताबिक इन हाई प्रोफाइल सीटों पर कौन किसे टक्कर दे रहा है और कौन जीत रहा है.

अमेठी
एक्सिस माय इंडिया अपने एग्जिट पोल में इस बात का दावा कर रहा है कि अमेठी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और स्मृति ईरानी के बीच कांटे की टक्कर हो रही है. 2014 में राहुल गांधी 1.07 लाख वोटों से जीते थे. एग्जिट पोल की मानें तो राहुल के लिए इस बार जीत पाना इतना आसान नहीं रहने वाला है.

गाजियाबाद
उत्तर प्रदेश की गाजियाबाद लोकसभा सीट काफी चर्चित है. गाजियाबाद से भाजपा ने वीके सिंह को मैदान में उतारा है. कांग्रेस की डॉली शर्मा से उनका मुकाबला है. एग्जिट पोल के मताबिक, वीके सिंह आगे चल रहे हैं. हालांकि, डॉली से उन्हें कड़ी टक्कर मिल सकती है.

मैनपुरी
यूपी की मैनपुरी लोकसभा सीट से इस बार सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ताल ठोंक रहे हैं. यह सीट यादव परिवार की गढ़ मानी जाती है. मुलायम कभी इस संसदीय सीट से हारे नहीं हैं. इस बार मुलायम का मुकाबला बीजेपी प्रत्याशी प्रेम सिंह शाक्य से है. एग्जिट पोल बता रहे हैं कि मुलायम के इस बार भी जीतने की संभावना ज्यादा है.

गौतमबुद्ध नगर
गौतमबुद्ध नगर सीट पर भाजपा के डॉ. महेश शर्मा का कांग्रेस प्रत्याशी अरविंद सिंह चौहान से मुकाबला है. एग्जिट पोल बता रहे हैं कि महेश आगे चल रहे हैं और उनका जीतना तय माना जा रहा है.

मुजफ्फरनगर
मुजफ्फरनगर पश्चिमी उत्तर प्रदेश की सबसे चर्चित लोकसभा सीट है. आरएलडी सुप्रीमो अजित सिंह और बीजेपी के संजीव बालियान के बीच इस सीट पर सीधी टक्कर है. बालियान ने 2014 में यह सीट 4 लाख से ज्यादा वोटों से जीती थी. एग्जिट पोल बता रहे हैं कि इस बार बालियान को अजित कड़ी टक्कर दे रहे हैं.

कन्नौज
कन्नौज से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव चुनाव लड़ रही हैं. डिंपल को बीजेपी नेता सुब्रत पाठक चुनौती दे रहे हैं. एग्जिट पोल में कहा जा रहा है कि डिंपल ये सीट हार सकती हैं. 2014 में वह के केवल 29 हजार से कुछ ही अधिक वोटों से जीती थीं.

फतेहपुर सिकरी
कांग्रेस के राज बब्बर फतेहपुर सिकरी लोकसभा सीट से पीछे चल रहे हैं. एग्जिट पोल की मानें तो बीएसपी के भगवान शर्मा उन्हें काफी कड़ी टक्कर दे रहे हैं. बीजेपी के राजकुमार चाहर भी भगवान से पीछे चल रहे हैं.

सुल्तानपुर
सुल्तानपुर लोकसभा सीट से इस बार वरुण गांधी की जगह मेनका गांधी बीजेपी प्रत्याशी हैं. बीएसपी के चंद्रभद्र सिंह सोनू उन्हें यहां से चुनौती दे रहे हैं. कांग्रेस ने डॉ. संजय सिंह को टिकट दिया है. एक्सिस माय इंडिया के एग्जिट पोल की मानें तो मेनका को इस काफी कड़ी टक्कर मिल रही है.

पीलीभीत
बीजेपी नेता वरुण गांधी पीलीभीत लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. यहां पर उनका मुकाबला एसपी उम्मीदवार हेमराज वर्मा से है. एग्जिट पोल के मुताबिक, वरुण फिलहाल आगे चल रहे हैं और उनके जीतने की संभावना जताई जा रही है.

गाजीपुर
केंद्रीय रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा गाजीपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. बीएसपी कैंडिडेट और बाहुबली मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी से मनोज का मुकाबला है. मनोज सिन्हा ने 2014 में एसपी की शिवकन्या कुशवाहा को 32 हजार वोटों से हराया था. एग्जिट पोल के अनुसार, मनोज इस बार मुश्किल में फंसे हुए हैं.

बागपत
अजित सिंह के बेटे जयंत चौधरी इस बार मथुरा की बजाए बागपत सीट से ताल ठोंक रहे हैं. जयंत सिंह का मुकाबला यहां पर बीजेपी के डॉ. सत्यपाल सिंह से है. 2014 में सत्यपाल ने अजित को बड़े अंतर से हराया था. एग्जिट पोल बता रहे हैं कि इस बार सत्यपाल और जयंत के बीच अच्छा मुकाबला होने वाला है.

बदायूं
बीजेपी कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी संघमित्रा मौर्य को बीजेपी ने मैदान में उतारा है. कांग्रेस ने सलीम इकबाल शेरवानी को प्रत्याशी बनाया है. 2014 में धर्मेंद्र 1.66 लाख से ज्यादा मतों से जीते थे. एग्जिट पोल के मुताबिक, एक बार धमेंद्र की जीत आसान नहीं होने वाली है.

ये भी पढ़ें-

लोकसभा चुनाव 2019: एग्जिट पोल आने के अगले दिन ही अनिल अंबानी को मिली खुशखबरी

Exit Poll से माहौल बनाकर EVM से की जाती है छेड़खानी: राघव चड्ढा

Exit Poll में मोदी लहर से गुलजार हुआ शेयर मार्केट, रुपया भी 73 पैसे मज़बूत