राहुल गांधी के गले में बम बांधकर दूसरे देश भेज देना चाहिए, BJP की पंकजा मुंडे का बयान

पंकजा मुंडे रविवार को जालना में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, 'सर्जिकल स्ट्राइक पर सबूत मांगने वाले राहुल गांधी के गले में बम बांध कर दूसरे देश भेज देना चाहिए.

नई दिल्ली: संसद में बैठने के लिए नेता भाषा की मर्यादा को तार-तार करते दिख रहे हैं. लोकसभा चुनाव में जीत पाने के लिए नेताओं को किसी भी हद तक जाने में कोई गुरेज नहीं है. भाजपा नेता पंकजा मुंडे कांग्रेस को कोसने में इतनी मशगूल हो गईं कि उनको पता ही नहीं चला कि उनके शब्द कब लक्ष्मण रेखा पार कर गए.

महाराष्ट्र सरकार में कैबिनेट मिनिस्टर पंकजा मुंडे ने रविवार को जालना में चुनावी रैली को संबोधित कर रहीं थीं. इस दौरान वो कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकार और राहुल गांधी पर हमला बोल रहीं थी. इस दौरान मुंडे ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक पर सबूत मांगने वाले राहुल गांधी के गले में बम बांध कर दूसरे देश भेज देना चाहिए.

ये भी पढ़ें- ‘पाकिस्तान ने परमाणु बम ईद के लिए नहीं रखा’, महबूबा मुफ्ती का PM मोदी पर पलटवार

महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष राव साहेब दानवे जालना संसदीय क्षेत्र से भाजपा के उम्मीदवार हैं. दानवे की एक सभा में पंकजा मुंडे ने कहा, “हमने अपने सैनिकों पर कायराना हमले के बाद सर्जिकल स्ट्राइक किया, वे पूछते हैं कि सर्जिकल स्ट्राइक कहां हुआ, मैं कहती हूं राहुल गांधी के गले में बम बांध दो और उसे वहां भेज दो, आजकल कोई भी खड़ा होता है और पीएम नरेंद्र मोदी से सवाल करने लगता है, मोदी ऐसे लोगों को जानते तक नहीं फिर भी ये लोग पूछते हैं कि सर्जिकल स्ट्राइक कहां हुई, कितने लोग मरे, ऐसे लोगों को बम से बांध देना चाहिए और हेलिकॉप्टर से फेंक देना चाहिए. तब इन लोगों को पता चल जाता”.

कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने उनके बयान की निंदा की है. सचिन ने कहा, “भाजपा नेताओं के सस्ते विचार एक बार फिर साबित हो रहे हैं. हम उनसे कुछ भी कम की उम्मीद नहीं करते हैं. जो लोग शहीद (करकरे) को राष्ट्र विरोधी करार देते हैं, वे किसी भी हद तक जाने में सक्षम हैं. हम मुंडे के बयान की निंदा करते हैं.

इससे पहले केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने पाकिस्तान में घुसकर वायुसेना की एयर स्ट्राइक को लेकर सबूत उठाने वालों पर तीखी टिप्पणी की थी. विदेश राज्य मंत्री ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘अगली बार भारत कुछ करे तो मुझे लगता है कि विपक्षी जो ये प्रश्न उठाते हैं, उनको हवाई जहाज के नीचे बांध के ले जाएं. जब बम चलें तो वहां से टारगेट देख लें. उसके बाद उनको वहीं पर उतार दें. गिन लें और वापस आ जाएं. इससे पहले उन्होंने फेसबुक पर पोस्ट कर विपक्ष, मीडिया और छात्र नेताओं पर हमला बोला था.