Today Election Roundup: त्रिपुरा-बंगाल में बंपर वोटिंग, आंध्र में दो की मौत, पढ़ें पहले फेज की हर खबर

देश में पहले चरण का मतदान छिटपुट हिंसा के बीच शांतिपूर्वक संपन्न हो गया. 18 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों की 91 सीटों पर वोटिंग हुई. इसके साथ ही कई जगह छिटपुट हिंसा की खबरें भी आई हैं. पढ़िए आज की प्रमुख चुनावी खबरें...

नई दिल्ली: 2019 लोकसभा चुनाव के लिए देश भर की 91 सीटों पर मतदान किया गया. इस दौरान कई जगह से छिटपुट हिंसा की घटनाएं भी सामने आई लेकिन इन घटनाओं का असर मतदान में कोई खास नहीं पड़ा. इसके अलावा पढ़िए देश की बड़ी चुनावी खबरें…

आंध्र प्रदेश में झड़प और महाराष्ट्र में आईईडी ब्लास्ट में 2 लोगों की मौत हो गई.
आंध्र प्रदेश में TDP-YSR कांग्रेस समर्थकों में हिंसक झड़प में 2 लोगों की मौत
महाराष्ट्र में गढ़चिरौली जिले के वाघेजरी इलाके में एक पोलिंग बूथ के नजदीक माओवादियों ने IED ब्लास्ट किया.

1- यूपी में 6 बजे तक 63.69 फीसद वोटिंग, सबसे ज्यादा सहारनपुर में
दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश भारत में नई सरकार चुनने के लिए पहले चरण में गुरुवार को वोट डाले गए. यूपी में 6 बजे तक 63.69 फीसद वोटिंग हुई. शाम 5 बजे तक बिहार में 50.26 और असम में 68 फीसदी मतदान हुआ. पहले चरण में देश के 18 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों की 91 सीटों पर मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. गुरुवार को कुल 1279 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में बंद हो गयी. मतदान के लिए 170664 पोलिंग बूथ बनाए गए थे.

 BJP को वोट देने से इनकार पर BSF जवान ने की बदसलूकी? महबूबा ने वीडियो पोस्ट कर लगाया आरोप
2- 2019 लोकसभा के लिए देश भर में पहले चरण के लिए मतदान हो रहे हैं. जम्मू और कश्मीर की दो संसदीय सीटों पर भी मतदान हो रहा है. जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने ट्विटर में एक वीडियो डालते हुए बीएसएफ के एक जवान पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीएसएफ जवान भाजपा के पक्ष में वोट न करने पर एक वोटर के साथ बदसलूकी कर रही है.

प्रियंका गांधी ने कहा- मेरी मां से सीखें राजनेता
3- यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी के नामांकन के बाद प्रियका गांधी ने कहा कि हर राजनेता को उनकी मां से सीखना चाहिए. प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, ‘रायबरेली की जनता के प्रति मेरी मां की श्रद्धा से हर प्रत्याशी और हर राजनेता को सीखना चाहिए. राजनीति का मकसद जनसेवा और समर्पण है. जिसे भी यह मौका मिलता है उसे जनता का शुक्रगुजार होना चाहिए.’

बंदरों को फ्रूटी और समोसा देकर बिगाड़ा, उन्हें सिर्फ फल दें- हेमा मालिनी
4- लोकसभा चुनाव प्रचार के लिए बॉलीवुड अभिनेत्री और भाजपा सांसद हेमा मालिनी वृंदावन पहुंची. यहां उन्होंने लोगों से संवाद किया. लोगों ने जब उनसे बंदरों के उत्पात की समस्या बताई तो उन्होंने अजीबो-गरीब जवाब दिया. उन्होंने कहा कि लोगों ने बंदरों को फ्रूटी और समोसा देकर बिगाड़ा, उन्हें सिर्फ फल दें.

नामांकन भरने के बाद सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को क्यों याद दिलाया 2004
5- आत्मविश्वास से लबरेज यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुरुवार को रायबरेली सीट से नामांकन भरा. इस वक्‍त कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी भी उनके साथ मौजूद थीं. पर्चा भरने के बाद सोनिया गांधी से पत्रकारों ने सवाल पूछा- क्या पीएम मोदी अजेय हैं? इस सवाल का जवाब देते हुए सोनिया गांधी ने कहा, ‘बिल्कुल नहीं, 2004 को मत भूलिए. तब वाजपेयी जी भी अजेय लग रहे थे, लेकिन हम जीत थे.’

मॉब लिंचिंग में मारे गए अखलाक के परिवार का वोटिंग लिस्ट से नाम गायब
6- 2015 में मॉब लिंचिंग का शिकार हुए- मोहम्मद अखलाक के परिवार का नाम वोटर लिस्ट से गायब है. वोटिंग लिस्ट में परिवार के सदस्यों का नाम नहीं होने की जानकारी उस समय सामने आई जब परिवार के लोग वोट डालने मतदान केन्द्र पर पहुंचे. परिवार के सदस्यों के नाम वोटर लिस्ट में शामिल नहीं थे.

राजनीति की पिच पर पहुंचने वाले गौतम गंभीर ने भाजपा प्रत्याशी के लिए मांगे वोट
7- टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर(Gautam Gambhir) ऊधमपुर-डोडा लोकसभा सीट के लिए भाजपा प्रत्याशी डॉ. जितेन्द्र सिंह के पक्ष में चुनाव प्रचार करने के लिए ऊधमपुर जिला की रामनगर तहसील में पहुंच गए हैं. गंभीर ने कहा कि 18 अप्रैल का दिन हम सभी के लिये बहुत मायने रखता है इसलिए क्षेत्र के मतदाताओं को मिलकर देश के विकास की राह पर लेने जाने के लिए भाजपा प्रत्याशी डॅा. जितेन्द्र सिंह के पक्ष में मतदान करने की अपील की है.


कैराना में भीड़ ने बोला बूथ पर धावा, फर्जी वोटिंग रोकने को BSF ने की फायरिंग
8- कैराना के रसूलपुर में फायरिंग की बात सामने आई. जानकारी मिली है कि बीएसएफ ने पोलिंग स्टेशन में फ़र्ज़ी वोटिंग रोकने के लिए फायरिंग की. कैराना के रसूलपुर गुजरान के पोलिंग स्टेशन में भीड़ ने धावा बोल दिया था और फ़र्ज़ी वोटिंग कराने की कोशिश की जा रही थी. जिसके बाद बीएसएफ ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए फायरिंग की. फ़िलहाल मतदान रोक दिया गया है.

जहां नक्सलियों ने 25 नेताओं को उतारा था मौत के घाट, वहां के ग्रामीणों ने 10KM पैदल चलकर डाले वोट
9- नेताओं की बेरुखी और लोकतंत्र पर ग्रामीणों के विश्वास की एक तस्वीर बस्तर में देखने को मिली. सुकमा जिले के झीरम घाट इलाके के ग्रामीण वोट देने के लिए 10 किलोमीटर तक पैदल चलकर गए. वो भी इन हालातों में जब नक्सलियों ने मतदान ना करने का फरमान जारी किया हुआ है.