‘अमेठी से राहुल हारे तो राजनीति छोड़ दूंगा’, बयान पर अब बुरी तरह फंसे सिद्धू

सिद्धू को ट्रोल करने वालों में आम लोग तो हैं ही, साथ ही कई जानेमाने चेहरे भी शामिल हैं.

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अमेठी से चुनाव हारने के बाद सोशल मीडिया यूजर्स पंजाब कैबिनेट मंत्री और पार्टी नेता नवजोत सिंह सिद्धू को अपनी उस बात पर कायम रहने के लिए कह रहे हैं, जिसमें सिद्धू ने लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि अगर राहुल गांधी अमेठी से हारे तो इस्तीफा दे दूंगा और राजनीति छोड़ दूंगा.

गुरुवार को घोषित हुए लोकसभा चुनावों के नतीजों में एनडीए को मिली प्रचंड जीत और अमेठी से राहुल गांधी की हार के बाद से ही यूजर्स नवजोत सिंह सिद्धू से इस्तीफा देने की मांग करते हुए उन्हें ट्रोल कर रहे हैं. ट्रोल करने वालों में आम लोग तो हैं ही, साथ ही कई जानेमाने चेहरे भी शामिल हैं.

अमेठी से स्मृति ईरानी के राहुल को हराने के बाद बीजेपी नेता बाबुल सुप्रियो ने ट्वीट किया, “क्या आप अब भी अपनी बात पर रहेंगे, जब अब अमेठी ने सीधे तौर पर स्मृति ईरानी और बीजेपी को अपना समर्थन दे दिया है?”

मधु पूर्णिमा किश्वर ने लिखा, “आगे देखते हैं सिद्धू राजनीति छोड़ रहे हैं. कभी वे एक नायक थे क्योंकि उन्होंने जट सिख होने के बावजूद अकाली घोटाले और राजनीतिक ज्यादतियों का पर्दाफाश किया था.  2014 में अमृतसर के टिकट से गलत तरीके से इनकार किए जाने के बाद, उन्होंने अपना नेतृत्व खो दिया. अब उन्होंने एक राजनीतिक दायित्व चुना है.”

तारक मेहता शो की अभिनेत्री मुनमुन दत्त ने लिखा, “मैं आज स्मृति ईरानी को सुनना चाहती हूं, और आज अमेठी के परिणाम ने साबित कर दिया कि कौन बॉस है. अभी भी एक सवाल बाकी है. क्या नवजोत सिंह सिद्धू इस्तीफा देंगे और राजनीति छोड़ेंगे या नहीं? अब अपनी बात पर रहने का समय है सर. हम इंतजार कर रहे हैं.”

इसी तरह कई लोगों ने नवजोत सिंह सिद्धू को ट्रोल करते हुए तरह-तरह की प्रतिक्रियाए दीं.

अप्रैल में चुनाव प्रचार के दौरान सिद्धू ने कहा था कि राहुल गांधी को अमेठी से स्मृति ईरानी से कोई चुनौती नहीं मिल रही है. इसके साथ ही सिद्धू ने कहा था कि अगर राहुल गांधी अमेठी से चुनाव हार जाएंगे तो वे राजनीति छोड़ देंगे.