BJP से नहीं मिला टिकट तो ‘चौकीदार’ ने थामा राहुल गांधी का हाथ

भाजपा ने उदित राज को इस बार उत्तर-पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट से टिकट नहीं दिया है. इस बात को लेकर वो पिछले कुछ दिनों से काफी नाराज चल रहे थे.

नई दिल्ली: भाजपा सांसद और दलित नेता उदित राज ने कांग्रेस ज्वॉइन कर ली है. उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल की उपस्थिति में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. उदित राज लोकसभा चुनाव 2014 में उत्तर-पश्चिमी दिल्ली सीट से भाजपा के टिकट पर सांसद चुने गए थे.

टिकट नहीं मिलने से थे नाराज
भाजपा ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए उदित राज को दिल्ली के उत्तर-पश्चिम लोकसभा सीट से टिकट नहीं दिया. भाजपा ने उनकी जगह हंसराज हंस को उम्मीदवार बनाया है. इस बात को लेकर उदित पिछले कुछ दिनों से भाजपा से नाराज चल रहे थे.

उदित राज ने खुद भी ट्वीट कांग्रेस ज्वॉइन करने की जानकारी दी है. उन्होंने लिखा, “आज मैं कांग्रेस में शामिल हुआ. श्री राहुल गांधी जी का धन्यवाद.”

इंडियन जस्टिस पार्टी के पूर्व प्रमुख उदित राज ने मंगलवार को ही इस बात का दावा किया था कि उन पर भाजपा छोड़ने का दबाव बनाया जा रहा है.

‘भाजपा है दलित विरोधी’
इस बीच कांग्रेस द्वारा आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में उदित राज ने भाजपा पर हमला बोला है. उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा एक दलित विरोधी पार्टी है. साथ ही पिछड़े वर्ग का भी विरोध करती है.

उदित ने यह भी कहा कि वह साल 2014 के आस-पास में ही कांग्रेस ज्वॉइन करना चाहते थे. उन्होंने कहा, “2014 में पार्टी ने रामनाथ कोविंद को टिकट नहीं दिया था तो वह मेरे पास आए और आपने चुप रहने का इनाम देखा कि उन्हें राष्ट्रपति बना दिया गया. मैं भी चुप रहता तो शायद मुझे भी प्रधानमंत्री बना दिया जाता.”

ट्वीटर से चौकीदार शब्द हटाया
उदित ने अपने ट्विटर हैंडल पर नाम के आगे से चौकीदार शब्द भी हटा दिया है. उन्होंने टिकट कटने के बाद भी ऐसा किया था, लेकिन पांच घंटे बाद फिर से नाम के आगे चौकीदार लिख लिया था.

‘किराएदार हूं बात मान लेना पड़ता’

उदित राज ने कांग्रेस में शामिल होने से कुछ घंटों पहले एक ट्वीट किया. इसमें उन्होंने लिखा, “अगर मुझे पहले बता दिया गया होता तो इतना कष्ट ना होता. पार्टी को इतना कष्ट क्यों करना पड़ा की नामांकन के आखिरी दिन 1 बजे नाम की घोषणा करना पड़ा. पहले कह देते तो मुझे कोई तकलीफ नहीं होती. किराएदार हूं बात मान लेना पड़ता.”

उदित ने कांग्रेस ज्वॉइन करने के बाद एक और ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा है कि ‘आज कांग्रेस में शामिल हो कर बहुत खुशी का अनुभव हुआ.’

किस सीट से टिकट देगी कांग्रेस
दिल्ली की सात लोकसभा सीटों पर हो रहे चुनाव के लिए नामांकन की मियाद 23 अप्रैल को ही खत्म हो चुकी है. कांग्रेस ने उत्तर-पश्चिम दिल्ली सीट से राजेश लिलौथिया को प्रत्याशी बनाया है. ऐसे में उदित का इस सीट से इस बार चुनाव लड़ पाना संभव नहीं है.

इस बात की संभावना जताई जा रही है कि कांग्रेस उदित राज को इस चुनाव में अपना प्रत्याशी बना सकती है. लेकिन किस सीट से उन्हें टिकट दिया जाएगा इस बारे में अभी तक कुछ साफ नहीं कहा जा सकता है.