उमा भारती का खुलासा, क्यों नहीं लड़ेंगी 2019 का लोकसभा चुनाव

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने 2019 के लोकसभा चुनाव में न उतरने का फैसला लिया है, इसके साथ ही उन्होंने पीएम मोदी और योगी आदित्यनाथ की तारीफ भी की है.
uma-bharti-says-hanuman-shivaji-and-che-guevara-behind-her-decision-not-to-contest-2019-election, उमा भारती का खुलासा, क्यों नहीं लड़ेंगी 2019 का लोकसभा चुनाव

नई दिल्ली: हाल ही में अयोध्या आंदोलन की ब्रैंड नेता उमा भारती ने अपने चुनाव न लड़ने के फैसले को लेकर टिप्पणी दी है. ये फैसला उन्होंने मार्क्सवादी क्रांतिकारी चे ग्वेरा, मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी और भगवान हनुमान से प्रभावित होकर लिया है. झांसी से सांसद उमा भारती ने पीएम की भी तारीफ की.

इस बात को लेकर उमा भारती ने कहा कि, ‘मैं अपने जीवन में हनुमान जी, दूसरे चे ग्वेरा और शिवाजी इन तीन लोगों से बहुत ही प्रभावित रही हूं‘. इसकी वजह है कि चे ग्वेरा जब क्यूबा के दिवंगत नेता फिदेल कास्त्रो के साथ थे, तभी उन्हें एकाएक एहसास हुआ कि एक और देश उनका इंतजार कर रहा है, और उन्होंने सत्ता छोड़ दी. वो दूसरे देश जाकर लड़े और जिस दौरान उनकी मृत्यु हो गई. वहीं हनुमान जी ने जीवनभर संघर्ष किया और फिर भगवान राम के चरणों में खुद को सौंप दिया.

बता दें कि उमा भारती ने भारतीय जनता पार्टी की तरफ से 2003 में मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ा था और बहुमत हासिल किया था. इसके बाद 2014 के लोकसभा चुनाव में उमा भारती ने झांसी लोकसभा सीट से जीत हासिल की थी.

उमा ने झांसी से बीजेपी कैंडिडेट अनुराग शर्मा का प्रचार करते हुए यह भी कहा कि  ‘आडवाणीजी से भी प्रभावित हूं’. इस दौरान उमा ने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री मोदी की भी जमकर तारीफ की और उमा ने योगी आदित्यनाथ को पीएम मोदी का युवा रूप बताया.

उमा भारती ने चुनाव से ब्रेक लेने की दूसरी खास वजह गंगा के पुनर्जीवन को बताया है. हालांकि अगले पंचवर्षीय में दोबारा लड़ने की बात को उन्होंने खारिज नहीं किया. उमा ने मुताबिक, अमित शाह ने एक दिन सार्वजनिक तौर पर कहा था कि चुनाव के नतीजों के बाद उमा भारती बीजेपी की उपाध्यक्ष बनेंगी. उमा ने कहा कि- ‘मैं अभी 59 साल की हूं, और अगले पांच साल गंगा के नवीनीकरण में लगाऊंगी’.

Related Posts