केंद्र की सत्ता से बाहर चली जाएगी BJP: मायावती

बसपा अध्यक्ष मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बनारस में हुई एक हालिया रैली में भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है.

वाराणसी: प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में गुरुवार को बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने संयुक्त रूप से एक जनसभा को संबोधित किया. उन्होंने भविष्यवाणी की कि भारतीय जनता पार्टी केंद्र की सत्ता से बाहर चली जाएगी.

मायावती ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले चुनाव में कमजोर लोगों को अच्छे दिन के सपने दिखाए, मगर एक भी वादा पूरा नहीं किया. देश के लोग बेहद नाराज हैं, इस कारण भाजपा केंद्र की सत्ता से बाहर चली जाएगी. भाजपा की चौकीदारी अमीरों के लिए है.”

उन्होंने कहा कि भाजपा की जातिवादी और सांप्रदायिक व पूंजीवादी सोच के कारण गरीबों दलितों पिछड़ों व मुस्लिमों का विकास नहीं हो सका है. उत्तर प्रदेश के किसान आवारा पशुओं से परेशान हैं. भाजपा सरकार ने उनके लिए कुछ नहीं किया.

मायावती ने कहा, “काशी को विकसित करने में स्वच्छता और बुनकरों की समस्याओं को दूर करने का जो वादा किया गया, वह भी पूरा नहीं हो सका है. पीएम ने यहां सैकड़ों प्राचीन मंदिरों को तुड़वाया है जिससे सैकड़ों परिवारों को दुख झेलना पड़ा. गंगा की सफाई देश का मुद्दा है, मगर लाखों-करोड़ों खर्च के बाद भी वह वादा पूरा नहीं हुआ. मोदी ने अपनी गंगा मैया से वादाखिलाफी की है. ऐसे लोगों को गंगा मैया जरूर सजा देगी.”

वहीं, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा, “आप गिन लो, आज के बाद केवल सात दिन हैं और सात दिन बाद देश में एक नया प्रधानमंत्री होगा. इसलिए हम बनारस के अपने सभी लोगों से निवेदन करने आए हैं, अपील करने आए हैं कि जो जाने वाले हैं, उनका साथ न देकर जो आने वाले हैं, उनका साथ दें.”

उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसते हुए कहा, “धार्मिक नगरी, सांस्कृतिक नगरी और धरती का सबसे पुराना शहर, यही तो वह शहर है जिसमें देश के प्रधानमंत्री ने कहा था, हम बनारस को क्योटो बना देंगे. बताओ हमारे बनारस के साथियों, हम वाराणसी में आए हैं या क्योटो में आए हैं. यदि क्योटो में नहीं आए हैं तो झूठ बोलने वाले से पीछा छुड़ाइए, देश को नया प्रधानमंत्री दीजिए, यही निवेदन करने आया हूं.”