BJP ने बाहर के लोगों को बुलाकर हिंसा फैलाई, मोदी-शाह गुंडे हैं- ममता बनर्जी

BJP कार्यकर्ताओं पर झड़प के दौरान ईश्वरचंद विद्यासागर कॉलेज में तोड़फोड़ और 19वीं सदी के समाज सुधारक विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ने का आरोप लगा है.

कोलकाता. पश्चिम बंगाल के कोलकाता में मंगलवार शाम को भारतीय जनता पार्टी (BJP) के अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान तृणमूल कांग्रेस (TMC) और BJP कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प हुई. हिंसक झड़प के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा पर बड़ा आरोप लगाया है.उन्होंने कहा है कि भाजपा बाहर के लोगों को बुलाकर हिंसा फैलाने की कोशिश कर रही है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह को गुंडा भी बताया.

झड़प के बाद रात में विद्यासागर कॉलेज पहुंची ममता बनर्जी ने मामले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और जांच कराने की बात कही. उन्होंने कहा जांच कमिटी में कौन होगा इसका निर्णय बाद में लिया जाएगा. उन्होंने पार्टी समर्थकों से घटना के खिलाफ बुधवार को प्रतिवाद जुलूस निकालने को कहा. ममता ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा ने ‘दूसरे राज्यों से गुंडे बुलाकर घटना को अंजाम दिया है.  कॉलेज में तोड़फोड़ और आगजनी की गई.’ ममता ने ये भी कहा कि उन्होंने अपने जीवन में इस तरह का राजनीतिक दंगा पहले कभी नहीं देखा.

‘अमित शाह खुद को क्या समझते हैं?’

भाजपा कार्यकर्ताओं पर झड़प के दौरान ईश्वरचंद विद्यासागर कॉलेज में तोड़फोड़ और 19वीं सदी के समाज सुधारक विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ने का आरोप लगा है. ममता ने उत्तर कोलकाता स्थित विद्यासागर कॉलेज का दौरा किया. इस दौरान उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि अमित शाह खुद को क्या समझते हैं? क्या वह सबसे ऊपर हैं? क्या वह भगवान हैं जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता?

ममता ने कहा कि वे इतने असभ्य हैं कि उन्होंने विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा तोड़ दी. वे सभी बाहरी लोग हैं. भाजपा मतदान वाले दिन के लिए उन्हें लाई है. उन्होंने प्रतिमा तोड़े जाने के खिलाफ बुधवार को एक विरोध रैली करने की घोषणा भी की.

ये भी पढ़ें: TMC-BJP आमने-सामने, कोलकाता से लेकर दिल्ली के जंतर मंतर तक आज प्रदर्शन

ये भी पढ़ें: अमित शाह की रैली में हिंसक झड़प के बाद BJP नेताओं ने CM ममता पर साधा निशाना

अमित शाह के रोडशो में हिंसा

बता दें कि अमित शाह के रोडशो पर मंगलवार को कथित रूप से तृणमूल कांग्रेस छात्र परिषद (टीएमसीपी) के कार्यकर्ताओं ने पत्थर फेंके. इसके बाद कॉलेज स्ट्रीट के पास हिंसा भड़क उठी, जिसमें तीन बाइकों को आग के हवाले कर दिया गया.

टीएमसीपी कार्यकर्ता कलकत्ता विश्वविद्यालय के गेट पर काले झंडों के साथ जमा थे. जैसे ही रोडशो वहां से गुजरा, उन्होंने अमित शाह के खिलाफ नारे लगाए और काले झंडे दिखाए. आरोप है कि उन्होंने रोडशो पर ईंट व पत्थर फेंके. भाजपा समर्थकों ने भी कथित रूप से विश्वविद्यालय छात्रों पर ईंटें फेंकी.