‘ममता दीदी साल में दो बार पीएम मोदी को भेजती हैं कुर्ता और मिठाइयां’

कांग्रेस प्रवक्ता ग़ुलाम नबी आज़ाद जो अक्सर संसद के अंदर पीएम मोदी पर ज़ुबानी वार करते हुए दिखते हैं वो उनके साथ बैठकर कहकहे लगाते थे.
PM Modi statement on Mamata banarjee, ‘ममता दीदी साल में दो बार पीएम मोदी को भेजती हैं कुर्ता और मिठाइयां’

नई दिल्ली: सार्वजनिक जीवन में पीएम मोदी के ढेरों राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी दिखाई देते हैं लेकिन असल जीवन में सब के साथ बेहतर संबंध हैं. पीएम मोदी ने फ़िल्म स्टार अक्षय कुमार को दिए एक इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया है.

उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उनके लिए कुर्ता और मिठाइयां भेजती हैं. पीएम मोदी ने इस बात का ख़ुलासा करने से पहले कहा कि शायद मेरे इस बयान के बाद मुझे राजनीतिक नुकसान भी झेलना पड़ सकता है.

इतना ही नहीं कांग्रेस प्रवक्ता ग़ुलाम नबी आज़ाद जो अक्सर संसद के अंदर पीएम मोदी पर ज़ुबानी वार करते हुए दिखते हैं वो उनके साथ बैठकर कहकहे लगाते थे. बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और सीएम ममता बनर्जी साल में कई बार पीएम मोदी को मिठाइयां भेजती हैं.

दरअसल पीएम मोदी से एक इंटरव्यू में फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार ने पूछा कि क्या विरोधी पार्टियों में आपका कोई दोस्त है जिसके साथ बैठकर चाय पीते हों?

इस सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा, ‘बहुत दोस्त हैं बहुत अच्छे दोस्त हैं. हमलोग साल में एक दो बार खाना भी खाते हैं. बहुत पहले की बात थी जब मैं मुख्यमंत्री भी नहीं था किसी काम से मैं शायद संसद गया था. वहां पर गु़लाम नबी आज़ाद के साथ बडे़ दोस्ताना अंदाज़ में खूब गप्पें मार रहा था. जब हम बाहर निकले तो मीडिया वालों ने पूछा कि आप आरएसएस विचारधारा के लोग हैं और आप आज़ाद के साथ घूम रहे हैं. इसपर आज़ाद साहब ने अच्छा जवाब दिया. उन्होंने कहा कि बाहर जो आप देखते हो ऐसा नहीं है. हम सब एक परिवार के जैसे एक दूसरे से जुड़े हैं.’

वहीं ममता बनर्जी के साथ संबंधों को लेकर खुलासा करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘आपको सुनकर हैरानी होगी और ये बोलने के बाद चुनाव में मेरा नुकसान भी हो सकता है. ममता दीदी आज भी मुझे साल में दो बार कुर्ते भेजतीं हैं और एक दो यहां पसंद कर के जाती हैं.’

वहीं बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के साथ संबंधों का ज़िक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘एक राजनीतिक दौरे के दौरान उनके साथ बंगाली मिठाइयों को लेकर मेरी चर्चा हुई उसके बाद से वो साल में तीन -चार बार मुझे स्पेशली मिठाई भेजतीं हैं. जब ममता दीदी को यह बात पता लगी तो उसके बाद से वो भी साल में एक दो बार मिठाई भेजने लगीं.’

आपको याद होगा 2019 लोकसभा चुनाव की घोषणा से पहले ही ममता बनर्जी और केंद्र की मोदी सरकार के बीच टकराव की ख़बरे सामने आती रही है. बीजेपी लगातार प. बंगाल में अपने पांव पसारने की कोशिश करती रही हैं.

इतना ही नहीं हाल ही में केंद्रीय जांच एजेंसी CBI बनाम ममता बनर्जी सरकार की पुलिस के बीच तनाव की ख़बर भी देखने को मिली थी. जिसके बाद ममता सरकार पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के साथ धरने पर बैठ गईं थी.

Related Posts