हुंकार के बाद जब बंगाल की सड़कों पर राम-हनुमान संग उतरे अमित शाह, तब मचा कोहराम

बीजेपी अध्यक्ष के रोड शो में टकराव होने की भविष्यवाणी तो राजनीति के जानकारों ने उसी दिन कर दी थी. जब शाह ने मंच से जय श्री राम का नारा लगाते हुए ममता बनर्जी को चैलेंज दिया था.

कोलकाता: लाउड स्पीकर पर जय श्री राम की धुनें बज रही थीं. जिनपर नाचते हुए बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ, अमित शाह मंगलवार को कोलकाता की सड़कों पर निकले. शाह के रोड शो के दौरान कुछ कार्यकर्ता भगवान राम और हनुमान की वेशभूषा में भी थे. भगवा झंडों के बीच “जय श्री राम” और “मोदी-मोदी” के नारे गूंज रहे थे.

ये माहौल ठीक वैसा ही था जैसा अमित शाह ने सोमवार को ममता बनर्जी को चेतावनी देने के पहले सोचा होगा. इस वाकये पर आने से पहले आज के नजारे को पूरा करते हैं. जय श्री राम के नारों के बीच सफेद गाड़ी में गुलाबी जैकेट पहने अमित शाह शांतिपूर्ण तरीके से रोड शो कर रहे थे. लेकिन यह माहौल ज्यादा समय तक शांतिपूर्ण तरीके से नहीं चल सका और वैसा ही हुआ जिसकी कल्पना राजनीतिक पंडित सुबह हुई घटनाओं के बाद कयास लगा रहे थे.

रैली के आगाज से अंजाम तक बवाल की थी आशंका

दरअसल सुबह-सुबह शाह की रैली के ठीक पहले स्थानीय प्रशासन ने अमित शाह के पोस्टर-बैनर हटा दिए थे. इस खबर से ही अंदाजा हो गया था कि ममता बनर्जी का बंगाल इतनी आसानी से शाह का स्वागत तो नहीं करने वाला.

हुआ भी ऐसा ही. खैर टीएमसी कार्यकर्ता यहीं पर नहीं रुके. बल्कि उन्होंने अमित शाह के रोड शो के दौरान काले झंडे दिखाए. जिसके बाद नाराज बीजेपी कार्यकर्ता उनसे भिड़ गए. यह भिडंत धीरे-धीरे आगजनी और पत्थरबाजी में तब्दील हो गई. इस बवाल में कुछ लोगों ने बंगाल के पुनर्जागरण के स्तंभ माने जाने वाले ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ती को भी तोड़ दिया. जोकि बाद में संभवतः बंगाल की राजनीति में एक बड़ मुद्दा भी बन सकता है.

सोमवार को तय हो गई थी हंगामे की पटकथा

बीजेपी अध्यक्ष के रोड शो में टकराव होने की भविष्यवाणी तो राजनीति के जानकारों ने उसी दिन कर दी थी. जब शाह ने मंच से पश्चिम बंगाल की मुख्ममंत्री ममता बनर्जी को चैलेंज दिया था. दरअसल सोमवार को जॉयनगर सीट पर रैली के दौरान शाह ने ममता बनर्जी को चुनौती देते हुए कहा था, मैं जय श्री राम बोल रहा हूं और यहां से कोलकाता जा रहा हूं.” इसी के साथ शाह ने ममता बनर्जी को चैलेंज दिया था कि उन्हें गिरफ्तार करके बताएं.

मंगलवार को इसके आगे की कहानी लिखी गई. जिसमें पहले तो पोस्टर-बैनर को लेकर माहौल को तल्ख बनाया गया. फिर रोड शो के दौरान पथराव और आगजनी की घटना घटी. जाहिर है इसके बाद जुबानी जंग होना तो तय ही था.

हंगामे के बाद शुरू हुई जुबानी जंग

शाह ने ट्वीट कर कहा, “कोलकाता के रोडशो में उमड़े जनसैलाब से हताश होकर ममता बनर्जी के गुंडों ने रोडशो पर हमला किया. मुझे बंगाल की जनता पर विश्वास है कि वो इस हिंसा का जवाब अपने मत से टीएमस को उखाड़ कर देगी. मैं आशा करता हूं कि चुनाव आयोग टीएमसी के गुंडों को गिरफ्तार कर बंगाल में शांति बहाल करेगा.”

ममता बनर्जी ने बीजेपी पर आरोप मढ़ते हुए कहा, “मैंने पाया कि बीजेपी के कुछ गुंडों ने विद्यासागर कॉलेज में तोड़फोड़ की है. हम इसे आसानी से नहीं जाने देंगे. हम मुंहतोड़ जवाब देंगे.” उन्होंने आगे कहा, “उन्होंने (बीजेपी) कोलकाता में दंगों के लिए बाहरी लोगों को बुलाया. मैंने अपने शिक्षा मंत्री से घटनास्थल पर पहुंचने और दिल्ली के गुंडे नेताओं की स्थिति की जांच करने के लिए कहा है.”

ये भी पढ़ें: मैं मर जाऊंगा लेकिन नरेंद्र मोदी जी के माता-पिता का अपमान नहीं करूंगा- राहुल गांधी

(Visited 1,599 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *