‘समझ नहीं आता कि दिल्ली में मुख्यमंत्री है या धरना मंत्री,’ योगी ने कसा केजरीवाल पर तंज

योगी ने कहा 'हर विकास के मुद्दे पर वो धरने पर बैठ जाते हैं. क्या यह किसी मुख्यमंत्री को शोभा देता है. और जो व्यक्ति सुधरता नहीं है उसे लतखोर कहते हैं.'

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के विकासपुरी में मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनसभा कर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा, ‘मुझे समझ नहीं आता कि यहां का मुख्यमंत्री है या धरना मंत्री. वह अपने आप में अजूबे हैं. हर विकास के मुद्दे पर वो धरने पर बैठ जाते हैं. क्या यह किसी मुख्यमंत्री को शोभा देता है. और जो व्यक्ति सुधरता नहीं है उसे लतखोर कहते हैं.’

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज यूपी गड्डा मुक्त हो गया है लेकिन मुझे लगता है कि यूपी की बीमारी दिल्ली में आ गई है. योगी ने उत्तर प्रदेश में अवैध बूचड़खाने बंद कराए जाने की बात भी कही. दिल्ली में प्रचार करने आए योगी ने कहा कि आज दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी नहीं लगती. दिल्ली को बनाने के लिए अच्छे जनप्रतिनिधियों को चुनना पड़ेगा.

राष्ट्रीय राजधानी की सुरक्षा व्यवस्था का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि जिस दिल्ली में बार-बार धमाके होते थे, आज मोदी जी की सुरक्षा नीति की वजह से सब सुरक्षित हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली वालों की सुरक्षा नीति पर कोई राजनीति करे मुझे बिल्कुल पसंद नहीं है. साथ ही योगी आदित्यनाथ ने दावा किया कि पिछले पांच सालों में दिल्ली में एक भी धमाका नहीं हुआ.

बीजेपी की चुनावी रणनीति का जिक्र करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम 2014 में मोदी के नाम और 2019 में मोदी के काम पर चुनाव लड़ रहे हैं. उन्होंने यूपी में महिलाओं की सुरक्षा की भी बात कही. उन्होंने कहा, ‘आज मैं कह सकता हूं कि दो साल में यूपी में कोई दंगा नहीं हुआ. किसी बहन-बेटी को सड़क से नहीं उठाया गया. यदि कोई बहन-बेटी को उठाएगा तो उसका अंत कंस और रावण की तरह होगा.’

योगी आदित्यनाथ ने दावा किया कि बीजेपी एक बार फिर से मोदी जी के नेतृत्व में सरकार बनाएगी. उनका कहना है कि मोदी जी ने कभी जाति, भाषा, मत और मजहब के नाम पर भेदभाव नहीं किया.

ये भी पढ़ें: तेज बहादुर यादव का नामांकन रद्द होने पर कल होगी SC में सुनवाई