अगर बीजेपी 250 सीट पर सिमट जाती तो हालात अलग होते, मोदी से मिलने के बाद बोले जगन मोहन रेड्डी

आंध्र प्रदेश में अपनी ऐतिहासिक जीत के बाद जगन मोहन रेड्डी प्रदेश में नई सरकार बनाने जा रहे हैं.
Jaganmohan reddy pm modi, अगर बीजेपी 250 सीट पर सिमट जाती तो हालात अलग होते, मोदी से मिलने के बाद बोले जगन मोहन रेड्डी

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के साथ-साथ सामने आए आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनावों के नतीजों में मिली प्रचंड जीत के बाद वाईएसआर कांग्रेस के अध्यक्ष जगन मोहन रेड्डी आज यानि रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करने के लिए दिल्ली पहुंचे.

आंध्र प्रदेश में अपनी ऐतिहासिक जीत के बाद जगन मोहन रेड्डी प्रदेश में नई सरकार बनाने जा रहे हैं. जगन मोहन रेड्डी 30 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे और अपने शपथ ग्रहण समारोह में पीएम मोदी को आमंत्रित करने के लिए रेड्डी दिल्ली पहुंचे. रेड्डी ने पीएम से मुलाकात की और उन्हें शपथ ग्रहण समारोह में आने का निमंत्रण दिया.

रधानमंत्री आवास पर रेड्डी ने मोदी को गुलदस्ता दिया और शॉल ओढ़ाई. इस दौरान वहां अन्य वाईएसआरसीपी नेता भी मौजूद थे.

एएनआई के अनुसार, जगन मोहन रेड्डी ने पीएम मोदी से आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने को लेकर भी बातचीत की. उन्होंने पीएम मोदी से कहा कि प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा मिलना चाहिए और बिना केंद्र के समर्थन से प्रदेश विकास की दिशा में आगे नहीं बढ़ सकता. इसके साथ ही रेड्डी ने कहा कि अगर बीजेपी 250 सीट पर सिमट जाती तो हालात इससे उलट होते, क्योंकि तब हम विशेष राज्य के दर्जा देने के लिखित प्रमाण ही सरकार को समर्थन देते.

इसके अलावा रेड्डी ने पीएम मोदी से फिलहाल राज्य में चल रहे निर्माण कार्यों में आर्थिक मदद की भी मांग की. वहीं मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, रेड्डी की इस मांग पर पीएम ने अपनी सकारात्मक प्रतिक्रिया दी और साथ ही आश्वासन दिया कि केंद्र हमेशा आंध्र प्रदेश के साथ है.

रेड्डी जब दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचे थे तो उनके समर्थकों ने उन्हें एयरपोर्ट पर ही घेर लिया. इसके बाद काफी मशक्कत करने के बाद रेड्डी को सुरक्षा कर्मियों ने एयरपोर्ट से बाहर निकाला.

वाईएसआर कांग्रेस ने गुरुवार को आए विधानसभा चुनाव के परिणाम में प्रदेश की 175 सदस्यीय विधानसभा में 151 सीटों पर जीत हासिल की. इसके साथ ही पार्टी ने लोकसभा चुनाव के नतीजों में 25 में से 22 सीटें हासिल की जबकि तेलुगु देशम पार्टी को केवल 3 सीटों से संतोष करना पड़ा.

Related Posts