गुना में मिले 250 मृत चमगादड़, 2000 तक पहुंच सकती है संख्या, निपाह वायरस फैलने का खतरा

डॉक्टरों के अनुसार निपाह वायरस बहुत तेजी से असर करता है. यदि मरीज को तुरंत इलाज नहीं मिले तो 48 घंटे के अंदर मरीज कोमा में पहुंच जाता है.
, गुना में मिले 250 मृत चमगादड़, 2000 तक पहुंच सकती है संख्या, निपाह वायरस फैलने का खतरा

गुना: विजयपुर थाना क्षेत्र के NFL परिसर में हजारों चमगादड़ों की संदिग्ध मौत से हड़कंप मच गया है. पूरी की पूरी प्रशासनिक मशीनरी घटनास्थल पर पहुंच गई है और मृत पड़े चमगादड़ों की बारीकी से जांच शुरू कर दी गई है. हालांकि इस मामले में निपाह वायरस की मौजूदगी से भी इनकार नहीं किया जा सकता है. NFL प्रबंधन की लापरवाही का आलम ये है की मृत चमगादड़ों के शवों को खुले क्षेत्र में फेंकने से भी गुरेज नहीं किया गया.

राघोगढ़ तहसील में स्थित NFL (नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड) में आधिकारिक रूप से 250 से ज्यादा चमगादड मरने कि पुष्टि हो चुकी है. जबकि सूत्रों की मानें तो ये संख्या 2 हजार तक हो सकती है. चमगादड़ों की मौत ने प्रशासन की नींद उड़ा कर रख दी है. संदिग्ध परिस्थितियों में हुई चमगादड़ों की मौत को घातक निपाह वायरस से जोड़कर देखा जा रहा है.

निपाह वायरस को लेकर अब स्वास्थ्य विभाग ने भी अलर्ट जारी कर दिया है. NFL टाउनशिप में लगातार चमगादड़ों की मौत होती जा रही है. जिसके चलते स्थानीय रहवासियों में भी भय का माहौल बना हुआ है. इस मामले के बाद पशु चिकित्सकों की टीम ने मृत चमगादड़ों का सैम्पल ले लिया है, लेकिन अब तक किसी भी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच सके हैं.

दरअसल मामला इसलिए भी ज्यादा गंभीर हो गया है क्योंकि निपाह वायरस को लेकर तरह तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. क्योंकि डॉक्टरों के अनुसार निपाह वायरस बहुत तेजी से असर करता है. यदि मरीज को तुरंत इलाज नहीं मिले तो 48 घंटे के अंदर मरीज कोमा में पहुंच जाता है.

इस वायरस की वैक्सीन भी फिलहाल विकसित नहीं हो पाई है. इसलिए भी मामले में फूंक-फूंककर कदम रखा जा रहा है. बेहद सनसनीखेज मामले में NFL प्रबंधन कुछ भी बोलने से इनकार कर रहा है. वहीं मुख्य स्वास्थ्य चिकित्सा अधिकारी मामले की गंभीरता को बखूबी समझ रहे हैं.

ये भी पढ़ें: मौत के नाम पर हो रही ट्रोलिंग को फेसबुक करेगा बैन

Related Posts