प्रज्ञा ठाकुर के बाद एक और बीजेपी नेता ने नाथू राम गोडसे को बताया ‘देशभक्त’

उषा बीजेपी की वहीं राजनेता है, जिन्होंने साल 2014 में बयान दिया था कि गुजराती डांस गरबा में मुस्लिमों के शामिल होने पर रोक लगाई जानी चाहिए.

इंदौर: भोपाल से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सांसद प्रज्ञा ठाकुर के नाथू राम गोडसे को देशभक्त बताए जाने के बाद अब इंदौर की बीजेपी नेता ने महात्मा गांधी की हत्या करने वाले गोडसे को देशभक्त करार दे दिया है. इन बीजेपी नेता का नाम उषा ठाकुर है, जो कि डॉक्टर अम्बेडकर नगर से बीजेपी विधायक हैं.

उषा ठाकुर ने कहा कि गोडसे वह शख्स थे जिन्होंने अपनी जिंदगी से ज्यादा देश के बारे में सोचा. महात्मा गांधी की हत्या पर बोलते हुए उषा ठाकुर ने कहा, “क्या परिस्थितियां थीं उस समय, उसके बारे में तो वो (गोडसे) ही जानते होंगे, जिसके कारण उन्होंने यह फैसला लिया था. मुझे लगता है कि आपको और मुझे इसके ऊपर कोई टिप्पणी नहीं करनी चाहिए.”

वहीं पीटीआई के अनुसार, उषा के इस बयान पर बीजेपी अनुशासनात्मक समिति के मध्य प्रदेश प्रमुख बाबू सिंह रघुवंशी का कहना है कि मीडिया का एक वर्ग लगातार बीजेपी नेताओं से गोडसे के बारे में अनर्गल सवाल पूछता आ रहा है. वर्तमान स्थिति में यह सवाल अप्रासंगिक है.

इसके बाद बाबू सिंह रघुवंशी ने कहा, “जहां तक ​​सोशल मीडिया पर उषा ठाकुर के वायरल हो रहे वीडियो का सवाल है, तो मुझे लगता है कि यह एक एडिटिड वीडियो है और केवल एक विशेष शब्द को पकड़ने के कारण विवाद खड़ा किया जा रहा है.”

उषा इंदौर की बीजेपी वाइस प्रेसिडेंट भी हैं. उषा बीजेपी की वहीं राजनेता है, जिन्होंने साल 2014 में बयान दिया था कि गुजराती डांस गरबा में मुस्लिमों के शामिल होने पर रोक लगाई जानी चाहिए. उनके इस बयान को लेकर काफी हंगामा खड़ा हुआ था.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उषा ने कहा था कि गरबा के दौरान का हमारे पास डाटा है, जो कि यह बताता है कि इस दौरान करीब चार लाख लड़कियों ने इस्लाम धर्म कबूल कर लिया था.