नहीं मिली पसंद की सीट तो विमान में ही धरने पर बैठीं बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर, 20 मिनट लेट हुई फ्लाइट

भोपाल की सांसद प्रज्ञा ठाकुर शनिवार को दिल्ली से स्पाइस जेट (Spice Jet) की फ्लाइट संख्या SG 2489 से भोपाल आ रही थीं. एयरपोर्ट डायरेक्टर के अनुरोध के बाद प्रज्ञा ठाकुर 20 मिनट के बाद विमान से उतरीं.

भोपाल से बीजेपी की महिला सांसद प्रज्ञा सिंह (Pragya Thakur) ठाकुर शुनिवार को दिल्ली से भोपाल आ रहे स्पाइस जेट (Spice Jet) के विमान में नाराज हो कर धरने पर बैठ गईं. उनकी नाराजगी इस बात की थी कि उन्हें (सांसद) विमान में उनके पसंद की सीट नहीं मिली. हालांकि एयरपोर्ट डायरेक्टर के अनुरोध के बाद प्रज्ञा ठाकुर 20 मिनट के बाद विमान से उतर गईं.

भोपाल की सांसद प्रज्ञा ठाकुर शनिवार को दिल्ली से स्पाइस जेट (Spice Jet) की फ्लाइट संख्या SG 2489 से भोपाल आ रही थीं. इस फ्लाइट में उन्हें सीट नंबर 2-A दी गई थी. सांसद चाहती थीं कि प्रोटोकोल के लिहाज से उन्हें सीट नंबर A-2 दी जाए, लेकिन यह सीट पहले ही किसी दूसरे यात्री को दी जा चुकी थी. जैसे ही विमान भोपाल में राजाभोज एयरपोर्ट पर लैंड हुआ, तो सभी यात्री विमान से उतर गए मगर सांसद प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Thakur) विमान से बाहर नहीं आई. स्पाइस जेट के स्टाफ ने भी उनसे बाहर उतरने के लिए कहा लेकिन सांसद नहीं मानी. जब सांसद की नाराजगी की खबर एयरपोर्ट डायरेक्टर अनिल विक्रम को मिली तो वो दौड़ते हुए विमान के अंदर पहुंचे और सांसद से नीची उतरने का अनुरोध किया, तब जाकर सांसद विमान से उतरीं. प्रज्ञा ठाकुर के विमान से समय पर न उतरने के कारण यह विमान भोपाल से 20 मिनट की देरी से वापस दिल्ली के लिए रवाना हुआ.

इसके बाद प्रज्ञा ठाकुर एयरपोर्ट से संत हिरदारामजी की कुटिया पर पहुंचीं. जहां उन्होंने मीडिया से बात करते हुए स्पाइस जेट की सेवाओं पर सवाल उठाया. उन्होंने कहा, “स्पाइस जेट (Spice Jet) की सेवाएं ठीक नहीं हैं. कंपनी अपनी जिम्मेदारी से मुंह मोड़ रही है. मैंने जो सीट बुक कराई थी, वह नहीं दी गई. मैंने धरना नहीं दिया, लेकिन सेवाओं में कमी की शिकायत दर्ज कराई है.”

इससे पहले पूर्व में भी सांसद प्रज्ञा ठाकुर भोपाल के कमला नगर पुलिस स्टेशन में ही धरने पर बैठ गईं थी. जहां वे कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने पहुंची थी. लेकिन पुलिस ने FIR दर्ज करने से इनकार कर दिया था. जिसके बाद प्रज्ञा ठाकुर पुलिस थाने में धरने पर बैठ गईं.

ये भी पढ़ें : 56 मंत्रालयों के प्रेजेंटेशन के बाद बोले मोदी- जनता ने दूसरी बार सिर आंखों पर बैठाया, काम की रफ्तार बढ़ाइए