कांग्रेस का दावा, किसान कर्जमाफी में शिवराज सिंह के रिश्तेदारों का कर्ज माफ

भोपाल में मंगलवार को किसान कर्जमाफी के कागजों का बंडल कांग्रेस के नेताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को सौंपा था.
Shivraj Singh Chauhan, कांग्रेस का दावा, किसान कर्जमाफी में शिवराज सिंह के रिश्तेदारों का कर्ज माफ

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मंगलवार को कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को किसानों की कर्जमाफी के सबूत सौंपे. इस मामले में कांग्रेस ने दावा किया कि कमलनाथ सरकार में जो किसानों की कर्जमाफी हुई है उसमें शिवराज सिंह चौहान के रिश्तेदारों का भी कर्ज माफ हुआ है.

कांग्रेस का दावा है कि उनके रिश्तेदार रोहित सिंह चौहान और निरंजन सिंह का कर्ज माफ हुआ है. मंगलवार को कर्जमाफी के कागजों का बंडल कांग्रेस के नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, मंत्री पीसी.शर्मा ने शिवराज सिंह को सौंपा था.

कांग्रेस का दावा है कि ”जय जवान-जय किसान ऋण माफी’ योजना के तहत कुल 55 लाख किसानों का दो लाख तक का कर्ज माफ होना है. आचार संहिता लगने के पूर्व करीब 21 लाख किसानों के कर्ज माफ हो चुके हैं, उन्हें कर्ज माफी के प्रमाण पत्र भी दिए जा चुके हैं.

आचार संहिता के बाद शेष बचे किसानों के भी अपने वचन पत्र के वादे के मुताबिक, कांग्रेस सरकार कर्ज माफ करेगी. कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी जो खुद को किसान हितैषी बताती है, निरंतर कर्ज माफी पर झूठ परोसकर किसानों को भ्रमित और गुमराह करने में लगी हुई है.”

कर्जमाफी की सूची मिलने के बाद शिवराज सिंह चौहान ने कहा था ”कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 10 दिन में किसानों का कर्जमाफ करने का वादा किया था, लेकिन किसानों के साथ धोखा ही हुआ है. मैं फिर कहता हूं कि किसान का कर्जा माफ नहीं हुआ है.

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुझे कृषि विभाग की किसानों की सूची भिजवाई है. आप बैंकों की सूची दीजिए, कर्ज माफ तो बैंक करेंगे. केवल माहौल बिगाड़ने और किसानों को भ्रमित करने से कुछ नहीं होगा.

शिवराज ने कहा, जब तक बैंकों को सरकार पैसा नहीं देगी, कर्ज माफ नहीं होगा. केवल सूची बढ़ा देने से कर्जा माफ नहीं हो सकता है. 48 हजार करोड़ के अगेन्स्ट 1300 करोड़ रुपये दिया है, तो कर्जा माफ होगा ?

ये भी पढ़ें- “भगवा झंडे पर किसी का एकाधिकार नहीं”, रोड शो में बोले दिग्विजय

ये भी पढ़ें- Video:मंच से PM मोदी ने क्यों किया ‘पागल कुत्ता’, ‘नाली का कीड़ा’, ‘गंगू तेली’ जैसी गालियों का जिक्र?

Related Posts