कांग्रेस विधायक के खिलाफ FIR नहीं हुई दर्ज, थाने के बाहर धरने पर बैठ गईं प्रज्ञा ठाकुर

पुलिस ने प्रज्ञा ठाकुर की शिकायत दर्ज नहीं की और उसके बाद वे अपने समर्थकों के साथ थाने के बाहर धरने पर बैठ गईं.

भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर शनिवार को अचानक भोपाल के कमला नगर थाने में पहुंचीं. उन्होंने कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी के खिलाफ FIR दर्ज करने की मांग की. पुलिस ने प्रज्ञा ठाकुर की शिकायत दर्ज नहीं की और उसके बाद वे अपने समर्थकों के साथ थाने के बाहर धरने पर बैठ गईं.

इस दौरान वहां जमकर हंगामा हुआ. दरअसल, लोकसभा में नाथूराम गोडसे को लेकर हुए हंगामे पर मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के ब्यावरा से कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी ने विवादित बयान देते हुए कहा था, ‘प्रज्ञा सिंह ठाकुर यहां आईं तो जिंदा जला देंगे.’

इसके बाद प्रज्ञा सिंह ने आठ दिसंबर को ब्यावरा पहुंचने की घोषणा करते हुए कहा था कि आ रही हूं जला लेना.

हालांकि, बाद में विधायक गोवर्धन दांगी ने अपने बयान के लिए माफी भी मांग ली थी. इसके बाद भी साध्वी थाने पहुंची और FIR दर्ज करने का दबाव बनाती रहीं.

इस दौरान पुलिस ने प्रज्ञा ठाकुर से पुलिस के आला अधिकारी लगातार उनसे लिखित शिकायत देने की मांग करते रहे लेकिन उन्होंने कहा कि बिना लिखित आवेदन के FIR दर्ज कीजिए. इसे लेकर काफी देर तक प्रज्ञा ठाकुर और पुलिस अधिकारियों के बीच बहस होती रही.

ये भी पढ़ें-

बहुत महंगी हो गई है न्यायिक प्रक्रिया, कोर्ट तक गरीब आदमी की पहुंच हुई मुश्किल: राष्ट्रपति

हैदराबाद एनकाउंटर: NHRC ने की चारों शवों की जांच, परिवारों के बयान दर्ज