MP में कांग्रेस ने शुरू किया खेल, BJP करेगी खत्म: शिवराज सिंह चौहान

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अब कांग्रेस ने गंदी राजनीति करनी शुरू कर दी है और उसे इसका अंजाम भुगतना पड़ेगा.

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में सियासी रस्साकशी का दौर आगे बढ़ता हुआ नजर आ रहा है. पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के एक बयान ने मामले को और गरमा दिया है. चौहान ने यूपी के गोरखपुर में शुक्रवार को कहा कि एमपी में कांग्रेस ने खेल शुरू किया है और उसे खत्म बीजेपी करेगी.

चौहान ने कहा, “उन्होंने (कांग्रेस) खेल की शुरुआत की है, इसे खत्म हम (बीजेपी) करेंगे. कांग्रेस सरकार बीएसपी और अन्य पार्टियों के समर्थन से चल रही है क्योंकि कांग्रेस ने हमसे कुछ सीटें ज्यादा पाई थीं इसलिए बीजेपी ने नैतिक आधार पर सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया.”

उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस ने गंदी राजनीति करनी शुरू कर दी है और उसे इसका अंजाम भुगतना पड़ेगा. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस, एसपी और बीएसपी ने उत्तर प्रदेश और यहां की जनता के लिए कुछ भी नहीं किया.

BJP की MP इकाई में ‘दरार’? 
वहीं, भाजपा की मध्य प्रदेश इकाई में ‘दरार’ नजर आने से पार्टी हाईकमान नाराज है. विधानसभा में एक विधेयक पर मत विभाजन के दौरान भाजपा के दो विधायकों का सत्ता के पक्ष में चले जाना हाईकमान पर नागवार गुजरा है. हाईकमान ने पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट तलब की है और बड़े नेताओं को दिल्ली बुलाया है.

दूसरी तरफ, पार्टी की ओर से ‘डैमेज कंट्रोल’ की कोशिशें तेज कर दी गई हैं. कर्नाटक के ताजा राजनीतिक घटनाक्रम के बाद भाजपा की नजर मध्य प्रदेश पर थी. विपक्षी पार्टी की राज्य इकाई के नेता कमलनाथ सरकार के भविष्य पर सवाल तक उठाने लगे थे. नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव विधानसभा के भीतर एक दिन भी सरकार न चलने देने का दावा तक कर डाला था.

इसके बाद घटनाक्रम इतनी तेज से बदला कि कुछ ही घंटों बाद भाजपा बैकफुट पर आ गई. सरकार ने दंड विधि संशोधन विधेयक पर जब मत विभाजन कराया तो भाजपा के दो विधायकों- नारायण त्रिपाठी और शरद कोल ने विधेयक के पक्ष में वोट कर सबको चौंका दिया. इससे बाहर यह संदेश गया कि पार्टी के भीतर सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है.

ये भी पढ़ें-

आजम खान को बड़ा झटका, जौहर यूनिवर्सिटी की 140 बीघा जमीन का पट्टा रद्द

चौथी बार कर्नाटक के सीएम बने येदियुरप्‍पा, पुराने आदेश रोके, 29 को फ्लोर टेस्‍ट

Exclusive: आजम को मिले कड़ी सजा, संसद में गंदी बात कर दुख पहुंचाया: रमा देवी