Coronavirus : भोपाल में पहली मौत, Lockdown सख्त, दवा-दूध की दुकान छोड़ सब बंद

भोपाल में दो IAS अफसरों और एक स्वास्थ्य अधिकारी के Corona Positive पाए जाने के साथ मरीजों की संख्या अचानक बढ़ जाने के चलते जिला प्रशासन को 'Total Lockdown' का फैसला लेना पड़ा है.
full lockdown in bhopal, Coronavirus : भोपाल में पहली मौत, Lockdown सख्त, दवा-दूध की दुकान छोड़ सब बंद

मध्य प्रदेश की राजधानी में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमितों की संख्या बढ़ने के कारण जिला प्रशासन ने रविवार की आधी रात से ‘टोटल लॉकडाउन’ किए जाने का फैसला लिया है. यहां अब सिर्फ दूध और दवाईयों की दुकानें ही खुलेंगी, रोजाना जरूरत का बाकी सामान घरों तक पहुंचाया जाएगा. आधिकारिक तौर पर दी गई जानकारी के अनुसार, कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी भोपाल तरुण पिथोड़े के निर्देश पर अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी सतीश कुमार एस ने धारा 144 के अंतर्गत संशोधित आदेश जारी कर 5 अप्रैल रात 12 बजे से भोपाल को पूरी तरह लॉकडाउन करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

राजधानी में दो आईएएस अफसरों और एक स्वास्थ्य अधिकारी के कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) पाए जाने के साथ मरीजों की संख्या अचानक बढ़ जाने के चलते जिला प्रशासन को ‘टोटल लॉकडाउन’ का फैसला लेना पड़ा है.

आदेश में स्पष्ट किया गया है कि अब भोपाल पूरी तरह से लॉकडाउन (Total Lockdown) रहेगा. करोद मंडी भी अगले आदेश तक बंद रहेगी. व्यापारी किसानों से सब्जी वगैरह खरीदकर नगर निगम के माध्यम से बेचेंगे. किराना दुकान और अन्य दुकानों को दी गई छूट खत्म कर दी गई है.

भोपाल में कोरोना वायरस से पहली मौत

भोपाल में कोरोना वायरस (COVID-19) से मौत का पहली मामला सामने आया है. 62 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव 2 अप्रैल को भोपाल के प्राइवेट हॉस्पिटल में एडमिट हुआ था. मृतक इब्राहिमगंज का रहने वाला है. मरीज  ने करीब रात 12.30 बजे दम तोड़ दिया. रविवार को ही उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आई थी. डॉक्टरों का कहना है कि मरीज पहले से ही काफी बीमार था ऐसे में उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी कमज़ोर थी और उसके दोनों फेफड़े खराब हो गए थे. वह बिट्टन मार्केट में चौकीदारी का काम करता था.

भोपाल में 41 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित

भोपाल में रविवार को 23 नए कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. इनमें 12 जमाती और 11 स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी शामिल हैं. सभी को एम्स में भर्ती कराया गया है. भोपाल में कुल संक्रमितों की संख्या 41 हो चुकी है. 39 का इलाज जारी है जबकि दो मरीजों की तीसरी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद शुक्रवार को उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया. भोपाल में अब तक 20 जमाती संक्रमित पाए जा चुके हैं. प्रदेश में कुल 210 कोरोना पॉजिटिव हैं जबकि 14 की मौत हो चुकी है.

होम डिलिवरी रहेगी शुरू

आदेश में कहा गया है कि ऑफिशियल होम डिलिवरी के अलावा बाकी सभी दुकानें बंद रहेंगी. इस दौरान होम डिलिवरी, दूध पार्लर और दवा की दुकानें खुली रहेंगी. शासकीय कार्य के लिए अति आवश्यक सेवा में लगे हुए सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के वाहनों को इस प्रतिबंध से छूट रहेगी. इस लॉॅकडाउन में मीडिया और उनके प्रतिनिधियों को भी कहीं आने-जाने की छूट लागू रहेगी.

लॉकडाउन में निजी वाहन पूरी तरह से बैन कर दिए गए हैं. किसी भी क्षेत्र में आवाजाही पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगी. कंटेंटमेंट क्षेत्र से बाहर जाना और जोन के बाहर पाए जाने पर आदेश का उल्लंघन माना जाएगा और संबंधित व्यक्ति को गिरफ्तार किया जाएगा. सड़क पर कोई भी व्यक्ति घूमते पाए जाने पर गिरफ्तार कर कानूनी कर्रवाई की जाएगी. आपातकालीन सेवाओं के अलावा अन्य सभी कारणों के लिए दिए गए पास भी निलंबित कर दिए गए हैं.

कोरोना वायरस पीड़ितों के मामले में इंदौर अव्वल

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस पीड़ितों के मामले में इंदौर में अव्वल बना हुआ है. यहां मौत का आंकड़ा भी लगातार बढ़ रहा है. रविवार को 2 और मरीजों की मौत हो गई. इस तरह राज्य में कोरोना पीड़ितों की मौत का आंकड़ा 13 हो गया है, वहीं इंदौर में मरने वालों की संख्या 9 हो गई है. इंदौर के महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय द्वारा जारी बुलेटेन के अनुसार, इंदौर में पॉजिटिव मरीजों की संख्या 131 हो गई है, वहीं दो मरीजों की मौत होने से मरने वालों की संख्या नौ हो गई है. इसके अलावा उज्जैन में दो, खरगोन व छिंदवाड़ा में एक-एक मरीज की मौत हुई है.

विदिशा में मिला कोरोना पेशंट 

विदिशा के सिरोंज में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिला है, जिसके चलते जिला प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है और सिरोंज में कर्फ्यू का आदेश दिया गया है. पॉजिटिव मरीज दिल्ली के तबलीगी जमात का सदस्य बताया जा रहा है. फिलहाल प्रशासन ने इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं दी है. सिरोंज को छोड़कर जिले के दूसरे हिस्सों में सामान्य लाक डाउन रहेगा.

भोपाल में कोरोना की ‘कम्युनिटी स्प्रेड’ जैसी स्थिति नहीं

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते प्रभाव के बीच चिकित्सा जगत से अच्छी खबर आई है. एम्स के निदेशक प्रो. सरमन सिंह का दावा है कि भोपाल में कम्युनिटी स्प्रेड जैसी स्थिति नहीं है. आधिकारिक तौर पर दी गई जानकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को एम्स-भोपाल के डायरेक्टर, मेडिसिन विभाग के प्रमुख, कोविड-19 के स्टेट टेक्निकल एडवाइजर से चर्चा कर कोरोना वायरस की स्थिति और चिकित्सा व्यवस्थाओं की जानकारी ली.

-IANS इनपुट के साथ

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts