सेव की सब्जी नहीं बनाने पर 17 साल पत्नी से अलग रहा पति, पुलिस ने ऐसे कराया समझौता

पति ने कोर्ट में कहा ‘पत्नी ने सात फेरों की कसम नहीं निभाई.’

  • TV9.com
  • Publish Date - 11:49 am, Fri, 29 November 19

देवास में एक रिटायर दंपती सेव की सब्जी न बनने के कारण अलग हो गए और 17 साल अलग ही रहे. आखिर पुलिस ने सेव 50 रुपए देकर सेव मंगवाई, सब्जी बनवाई और दोनों में सुलह कराई.

मध्य प्रदेश के देवास में 79 वर्षीय विमल राव बैंक प्रेस नोट के रिटायर कर्मचारी हैं. उनकी पत्नी की उम्र 72 साल है. रिटायरमेंट के बाद मिला पैसा विमल ने पत्नी को दे दिया, पेंशन पत्नी के खाते पर आने लगी और देवास का मकान भी पत्नी के नाम कर दिया.

रिटायरमेंट के कोई दो साल बाद एक दिन पति ने पत्नी से कहा- मुझे सेव की सब्जी खाना है. पत्नी ने कहा- सेव ले आओ. पति ने कहा- पैसे दो. पत्नी ने कहा- नौकरी में थे तब तो लाते थे. पति ने कहा- सब तुम्हें सौंप दिया, अब पैसा कहां है? पत्नी ने सेव की सब्जी नहीं बनाई और पति ने अगले दिन बिना बताए घर छोड़ दिया.

महाराष्ट्र में बनाई झोपड़ी

पति ने महाराष्ट्र के बुलढाना में मातोड़ गांव में झोपड़ी बनाई और वहीं जम गए. 2016 में पेंशन भी अपने खाते पर मंगवानी शुरू कर दी तो मामला कोर्ट पहुंच गया. पुलिस ने पति को द्वितीय अपर जिला सत्र न्यायाधीश गंगाचरण दुबे की अदालत में पेश किया. पति ने अपना दुखड़ा बताया कि जो मुझे सेव की सब्जी नहीं बनाकर खिला सकते उसके पैसे क्यों दें?

वहां विवाद सुलझने से पहले पति ने कहा – इसने सात फेरों की कसम नहीं निभाई. कैसे यकीन करूं? साईं बाबा के सामने कसम खाए तो मानूंगा. कोर्ट ने दोनों को शिरडी जाने को कहा तो पति बोला ‘पैसे नहीं हैं.’ न्यायाधीश ने वहीं पर चंदा करके 1500 रुपए इकट्ठे कराए. दोनों लोग शिरडी गए. वहां से लौटकर 26 नवंबर को समझौता कर लिया.

ये भी पढ़ें:

बच्चे नहीं कर रहे थे पढ़ाई, टीचर ने उठाई रस्सी और बेंच से बांध दिए पैर
ट्रेनिंग कैंप में शिक्षकों ने किया नागिन डांस, Video वायरल होने पर दो सस्पेंड
बुजुर्ग बहनों ने 10 साल में जमा किए 46 हजार रुपए, जरूरत पड़ने पर निकले बैन हुए पुराने नोट