पायलट-सिंधिया पर दिग्विजय सिंह का तंज, कहा- इन नौजवानों में सब्र नहीं है

दिग्विजय सिंह ने कहा कि पहले कांग्रेस के नेताओं ने लंबी लड़ाई लड़ी है. तब जाकर 60- 65 साल की उम्र में उन्होंने नेताओं को कुछ मिल पाया था. कांग्रेस में कितने लोग हैं जिनको इतनी कम उम्र में पार्टी में इतना सब कुछ मिला है.
Digvijay singh on pilot scindia, पायलट-सिंधिया पर दिग्विजय सिंह का तंज, कहा- इन नौजवानों में सब्र नहीं है

कांग्रेस नेता और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने सचिन पायलट समेत सिंधिया पर तंज कसते हुए कहा है कि इन नौजवानों को सब्र ही नहीं है. दिग्विजय सिंह ने ये बात ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiradtiya Scindia) के प्रभाव वाले क्षेत्र अशोकनगर जिले में कही. कांग्रेस की सरकार गिरने के बाद यहां उनका पहला दौरा था.

दिग्विजय सिंह ने सचिन पायलट के पिता राजेश पायलट और ज्योतिरादित्य सिंधिया के पिता माधवराव सिंधिया के कामों को याद किया. उन्होंने कहा कि कितने लोगों को इतनी कम उम्र में इतना कुछ मिल पाता है. लेकिन इन दोनों युवा नेताओं को सब्र ही नहीं है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

सिंधिया रहे टारगेट पर

पत्रकारों से बातचीत करते हुए दिग्विजय सिंह ने राजस्थान के मुद्दे पर पूछे गए सवाल को लेकर कहा कि ये युवा नेता भूल जाते हैं कि उन्हें इतनी कम उम्र में कांग्रेस पार्टी ने क्या-क्या दिया है. उन्होंने कहा कि अफसोस के साथ कहना पड़ता है इन दोनों के पिताओं और इनसे बहुत अच्छे संबंध रहे हैं लेकिन इन दोनों नौजवानों को सब्र नहीं है.

दिग्विजय सिंह ने राजेश पायलट और माधवराव सिंधिया की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने कांग्रेस पार्टी के लिए बहुत कुछ किया है और उन्हीं के कामों को ध्यान में रखते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया को सांसद बनाया, केंद्र में मंत्री बनाया, ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी का महामंत्री और मध्य प्रदेश कैंपेन कमेटी का हेड बनाया. साथ ही उन्हें डिप्टी सीएम और प्रदेश अध्यक्ष का पद भी ऑफर किया जो उन्होंने स्वीकार नहीं किया.

सिंधिया के BJP में शामिल होने पर कटाक्ष किया

दिग्विजय सिंह ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उन्होंने उस पार्टी के साथ जाना उचित समझा जिसने चुनाव में उन को हराया था और उस पार्टी का साथ छोड़ा जिस कांग्रेस ने उन्हें सब कुछ दिया. इसी तरह सचिन पायलट को लेकर भी उन्होंने कहा कि सचिन को बहुत छोटी उम्र में सांसद और केंद्रीय मंत्री बनाया गया.

दिग्विजय सिंह ने इन दोनों नेताओं को याद दिलाते हुए कहा कि पहले कांग्रेस के नेताओं ने लंबी लड़ाई लड़ी है. तब जाकर 60- 65 साल की उम्र में उन्होंने नेताओं को कुछ मिल पाया था. उन्होंने कहा कि कांग्रेस में कितने लोग हैं जिनको इतनी कम उम्र में पार्टी में इतना सब कुछ मिला है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts