दिल्ली में केंद्रीय मंत्रियों से मिलेंगे शिवराज, कांग्रेस नेता की मांग- सिंधिया समर्थक को न दें राजस्व विभाग

डॉक्टर गोविंद सिंह (Dr Govind Singh) ने कहा कि प्रदेश के हित में मैं ये सलाह दे रहा हूं कि सिंधिया समर्थक किसी मंत्री को राजस्व विभाग नहीं दिया जाए. क्योंकि सिंधिया ग्वालियर, शिवपुरी और दूसरे जिलों में जमीनों पर अवैध रूप से कब्जा जमाने का काम कर रहे हैं.
Govind Singh demands, दिल्ली में केंद्रीय मंत्रियों से मिलेंगे शिवराज, कांग्रेस नेता की मांग- सिंधिया समर्थक को न दें राजस्व विभाग

पूर्व सहकारिता मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक डॉ गोविंद सिंह (Dr Govind Singh) ने रविवार को TV9 भारतवर्ष (TV9Bharatvarsh) से बातचीत की. इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) से आग्रह किया है कि राजस्व विभाग ज्योतिरादित्य सिंधिया के किसी समर्थक मंत्री को ना दिया जाए.

डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा कि प्रदेश की जनता के हित में मैं ये सलाह दे रहा हूं कि सिंधिया समर्थक किसी मंत्री को राजस्व विभाग नहीं दिया जाए. क्योंकि सिंधिया ग्वालियर शिवपुरी और दूसरे जिलों में जमीनों पर अवैध रूप से कब्जा जमाने का काम कर रहे हैं.

गोविंद सिंह ने सिंधिया पर लगाया बड़ा आरोप

सिंह ने कहा, “आजादी के मर्जर एग्रीमेंट में सिंधिया की और शासकीय संपत्ति अलग थी, उसका गजट नोटिफिकेशन स्पष्ट है कि सिंधिया परिवार के पास कितनी जमीन है. लेकिन सरकारी अफसरों और शासकीय अधिवक्ता के साथ गठजोड़ करके सिंधिया ने हजारों करोड़ की जमीन अपने ट्रस्ट के नाम करा ली है.”

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

सिंह ने कहा कि ये खेल ग्वालियर, शिवपुरी और उज्जैन सब जगह चल रहा है. कमलनाथ के मुख्यमंत्री रहते लैंड कमिश्नर और कलेक्टर ने अभिलेख में 2018 तक शासकीय जमीनों का डिटेल दर्ज कराया था. लेकिन तत्कालीन कलेक्टर अनुराग ‌चौधरी ने गोलमाल और भ्रष्टाचार किया.

उन्होंने आगे कहा कि उन्हें अब लैंड रिकॅार्ड असिस्टेंट कमिश्नर बना दिया गया है. जिससे यह आशंका बढ़ रही है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया सरकारी जमीनों को अपने ट्रस्ट के नाम करवा सकते हैं. मैं अगर गलत हूं तो मुझ पर मानहानि का केस करो.

सिंह ने कहा, “जब हम सरकार में थे तो भी हमने शिकायतें की लेकिन अधिकारियों से सेटिंग करके, कोर्ट में गलत जानकारी देकर सिंधिया जी ने जमीनें हड़पी हैं. शासकीय अधिवक्ता ने पैसा सरकार से लिया और सिंधिया के पक्ष में पैरवी की, इससे क्या साबित होता है.”

 ‘हम बस सलाह दे रहे…’

डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा की शिवराज सिंह चौहान को यह सलाह दे रहे हैं, मानना ना मानना उनके ऊपर है. लेकिन अगर अवैध कब्जे हुए तो बात उन पर भी आएगी.

रेत उत्खनन को लेकर डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा कि आज भी खुलेआम रेत का अवैध उत्खनन चल रहा है. शासन की मिलीभगत से करोड़ों रुपए की रेत खोदी जा रही है. 500 से लेकर 1000 ट्रक अवैध रेत रोज यूपी के झांसी, कानपुर, इटावा में भिजवाई जा रही है.

उन्होंने कहा, “मैंने सरकार में रहते मंत्रीपद दांव पर लगाया और आवाज उठाई. डॉ सिंह ने कहा कि अगर लॉकडाउन खत्म हो जाता है तो मैं इस मुद्दे पर कलेक्टर ऑफिस का भी घेराव करूंगा.”

खुद की मुख्यमंत्री कमलनाथ से नाराजगी को लेकर डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा कि ऐसे कई मुद्दे हैं जिन्हें लेकर सहमति नहीं बनती तो मैं अपनी राय रख देता हूं.

चौधरी राकेश सिंह को वापस कांग्रेस में लाने को लेकर गोविंद सिंह ने कहा कि उनका किसी व्यक्ति को लेकर विरोध नहीं है. अगर पार्टी को उचित लगता है तो वह किसी को भी ले सकते हैं, मेरा विरोध सैद्धांतिक है. पार्टी में आयाराम-गयाराम की स्थिति हो गई है. इससे कोई पार्टी अछूती नहीं रह गई‌ है.

केंद्रीय मंत्रियों से मिलने दिल्ली जाएंगे सीएम शिवराज

दूसरी तरफ, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान निवास से स्टेट हैंगर के लिए रवाना हो गए हैं, वो कुछ देर में जाएंगे दिल्ली. दिल्ली में आज केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात का कार्यक्रम है.

सीएम शिवराज दोपहर 3 बजे केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह जी से मिलेंगे. इस दौरान ग्वालियर चंबल अंचल में सैनिक स्कूल खोलने के संबंध में चर्चा होगी.

शाम 5 बजे केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान से मिलने का कार्यक्रम है. इसमें गेहूं खरीदी के संबंध में चर्चा होगी. शाम में केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा से मिलकर प्रदेश में यूरिया के कोटा बढ़ाने पर चर्चा करेंगे.

इसके बाद देर शाम केंद्रीय मंत्री आरके सिंह से रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर पॉवर प्लांट के उद्घाटन के संबंध में चर्चा करेंगे.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts