MP: BJP सांसद केपी यादव के बिगड़े बोल, महिला कलेक्टर पर की विवादित टिप्पणी

अशोकनगर जिला कलेक्टर को लेकर सांसद केपी यादव का विवादित बयान सामने आने पर सोशल मीडिया उनका विरोध शुरू हो गया.

मध्य प्रदेश की गुना लोकसभा सीट से भाजपा सांसद केपी यादव का विवादित बयान सामने आया है. कलेक्टर को ज्ञापन देने की मांग को लेकर सड़क पर बैठे केपी यादव के बोल बिगड़ गए और अशोभनीय टिप्पणी कर दी.

जब महिला कलेक्टर ज्ञापन लेने नहीं आईं तो केपी यादव ने कहा कि वे पूर्व सांसद का चरण चुम्बन करने के लिए गांव-गांव पहुंच जाती थीं. केपी यादव कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव हराकर सांसद बने हैं.

सांसद केपी यादव द्वारा की गई अशोभनीय टिप्पणी पर अशोकनगर क्लेक्टर मंजू शर्मा ने कहा- मीडिया के माध्यम से मालूम चला कि सांसद ने ऐसा कहा है, सांसद द्वारा इस तरीके की भाषा का प्रयोग उचित नहीं है.

BJP MP kp yadav, MP: BJP सांसद केपी यादव के बिगड़े बोल, महिला कलेक्टर पर की विवादित टिप्पणी

ये है पूरा मामला

दरअसल, अशोकनगर जिले में ग्राम पंचायतों के परिसीमन में अनियमितता का आरोप लगाकर भाजपा की ओर से मंगलवार को कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया गया. इसी दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट परिसर में घुसने का प्रयास किया तो पुलिस ने उन्हें रोक लिया.

प्रदर्शन करने वालों में सांसद भाजपा सांसद केपी यादव भी शामिल थे. कलेक्ट्रेट में घुसने से रोके जाने के बाद सांसद केपी यादव के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट के बाहर ही धरने पर बैठ गए.

सांसद मांग करने लगे कि अशोकनगर जिला कलेक्टर मंजू शर्मा के ज्ञापन लेने के लिए धरनास्थल पर आए. जब कलेक्टर नहीं पहुंची तो केपी यादव ने ये विवादित बयान दिया.

केपी यादव का हुआ विरोध

अशोकनगर जिला कलेक्टर को लेकर सांसद केपी यादव का विवादित बयान सामने आने के बाद सोशल मीडिया उनका विरोध शुरू हो गया. सांसद के बयान के विरोध में महिला कांग्रेस ने तुलसी पार्क पर धरना प्रदर्शन किया.

उन्होंने सांसद के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर प्रधानमंत्री के नाम सौंपा. साथ ही महिला कांग्रेस कार्यकताओं ने महिला अस्मिता को ठेस पहुंचाने वाले बयान को लेकर सांसद केपी यादव से भी मांग की कि वे जिला कलेक्टर एवं पूरी नारी समाज से माफी मांगे.

ये भी पढ़ें- ‘भीख नहीं, हक है’, कर्ज माफी के लिए एक किसान ने कमलनाथ से की सुरीली अपील

ये भी पढ़ें- पान सिंह बनने को मजबूर न करें, बंदूक चलाने की ट्रेंनिंग भी नहीं लेनी पड़ेगी: ITBP जवान की धमकी