सरकारी अस्पताल में इलाज कराने पहुंचे कमलनाथ तो गार्ड्स ने मरीजों को हटाया, VIDEO

एक ओर पहले ही देश बिहार के मुजफ्फरपुर में अस्पताल और प्रशासन के रवैए की भयावह तस्वीर से स्तब्ध है. वहीं दूसरा मामला भोपाल में तब देखने को मिला जब उपचार के लिए सीएम वहां पहुंचे.

भोपाल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ आज हाथ में तकलीफ होने के चलते शासकीय हमीदिया अस्पताल में भर्ती हुए. कल सुबह उनके हाथ की एक माइनर सर्जरी भी होगी, जिसके बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया जाएगा. हाथ में तकलीफ होने के कारण आज कमलनाथ अंतरराष्ट्रीय योगा दिवस के कार्यक्रमों में भी शामिल नहीं हो सके थे.

मुख्यमंत्री कमलनाथ की सरकारी अस्पताल में जाने की पहल की सराहना सोशल मीडिया पर हो रही है. उनके अस्पताल में जाने से डॉक्टर्स और अस्पताल प्रशासन हरकत में आ गए. राजनेताओं का उपचार के लिए सरकारी अस्पतालों में जाना अच्छा संदेश भी देता है, लेकिन इसका दूसरा नजारा भी है, जो काफी अमानवीय है.

हमीदिया अस्पताल में सीएम के उपचार के लिए जाने की जानकारी पाते ही अधिकारियों के होश उड़ गए. आनन-फानन में गार्ड्स ने अस्पताल के बाहर इलाज के इंतजार में फर्श पर पड़े मरीजों और उनके परिजनों को हटाने लगे. मरीजों के साथ गार्ड्स के व्यवाहर की तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर वायरल होने लगीं. जिनकी जमकर आलोचना भी हो रही है.

एक ओर पहले ही देश बिहार के मुजफ्फरपुर में अस्पतालों और प्रशासन के रवैए की भयावह तस्वीर से स्तब्ध है. वहीं दूसरा नजारा भोपाल के सरकारी तंत्र ने भी दिखा दिया है. मरीजों और तीमारदारों के साथ हमीदिया अस्पताल के बाहर हुए दुर्व्यवहार ने एक बार फिर से अस्पताल प्रशासन की पोल खोली है.

गुस्साए लोग सीएम की अच्छी पहल के चलते परेशान हुए और उन्हें कोसने लगे. मरीजों के परिजनों की गार्ड्स से बहसबाजी भी हुई. इलाज के इंतजार में पड़े मरीजों के गुस्साए परिजनों ने कहा कि सीएम वहां आएगा कि चबूतरे पर चढ़ेगा. यह साफ तौर पर एक बार फिर प्रशासन के लापरवाह रवैए को उजागर करता है.

ये भी पढ़ें: ‘तेजस्वी को खोजकर लाओ, 5100 रुपए इनाम पाओ,’ मुजफ्फरपुर में लगे पोस्टर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *