‘हवन करें या जनेऊ दिखाएं, नहीं बचेगी कांग्रेस’, PM मोदी का दिग्विजय पर तंज

PM मोदी ने खंडवा की रैली में आपातकाल, भोपाल गैस त्रासदी, कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, और 84 के दंगों पर जमकर निशाना साधा.

खंडवा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मध्‍य प्रदेश के सीएम कमलनाथ का नाम लिए बगैर उन पर बड़ा हमला बोला. उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति जनता की नजरों में सिख दंगों के लिए गुनहगार है, उसे आपका मुख्यमंत्री बना दिया गया है.

मध्य प्रदेश के खंडवा संसदीय क्षेत्र के छैगांव माखन में जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने सिख दंगों को लेकर कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा के बयान पर तंज कसते हुए कहा कि ये वो लोग हैं, जिनके लिए कुछ भी हो जाए, मगर कहते हैं, ‘हुआ तो हुआ’.

मोदी ने सिख दंगों को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ का नाम लिए बगैर कहा, “वर्ष 1984 में सिखों के साथ अत्याचार हुआ, कत्लेआम हुआ और ये कहते हैं, ‘हुआ तो हुआ’. जो 84 के दंगों में जनता की नजरों में गुनहगार है, जिसको पंजाब कांग्रेस का प्रभारी बनाया, तो पंजाब कांग्रेस ने हाथ जोड़कर कहा, ‘इसको ले जाओ, वरना पंजाब में हम खत्म हो जाएंगे’. वहां से ले गए, आपके ऊपर थोप दिया मुख्यमंत्री बनाकर. ये है कांग्रेस.”

1984 के सिख दंगों में हजारों लोग मारे गए थे. इस घटना को लेकर सैम पित्रोदा का हाल ही में एक बयान आया, जिसमें उन्होंने कहा था, ‘हुआ तो हुआ’, बाद में पित्रोदा ने इस पर खेद जताया था.

पीएम मोदी ने खंडवा रैली में इंदिरा गांधी के जमाने में लगाई गई इमरजेंसी का भी जिक्र किया. उन्‍होंने कहा कि खंडवा के सपूत किशोर कुमार के गानों का रेडियो से प्रसारण इसलिए बंद कर दिया गया था, क्योंकि वह आपातकाल के दवाब में नहीं आए थे.

पीएम मोदी ने यह बात खंडवा के छैगांव माखन में भाजपा उम्मीदवार के समर्थन में आयोजित जनसभा के दौरान यह बात कही. पीएम मोदी ने यहां आपातकाल के अलावा भोपाल गैस त्रासदी तक का जिक्र किया और कांग्रेस पर हमला बोला. उन्होंने बगैर नाम लिए सैम पित्रोदा के ‘हुआ तो हुआ’ बयान का बार-बार जिक्र किया.

उन्होंने कहा, “भोपाल में हजारों लोगों को जहरीली गैस के हवाले कर दिया गया, कई पीढ़ियों को बर्बाद कर दिया गया, इस कांड के गुनहगार को सरकारी विमान से ले जाया गया. अगर उनसे पूछोगे कि हजारों लोगों को मरवा दिया तो यही कहेंगे, ‘हुआ तो हुआ’. लोग मरे तो मरे, इनको तो इससे कोई लेना देना ही नहीं है.”

उन्होंने आरोप लगाया, “2014 से पहले इनकी नीतियों और तुष्टिकरण के कारण आतंकवाद ने हजारों जानें ले लीं. आज ये कह रहे हैं कि ‘हुआ तो हुआ’.”प्रधानमंत्री मोदी ने भोपाल से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह का नाम लिए बगैर कहा, “जब पाकिस्तान के आतंकवादी हमला करते थे तो निर्दोषों को जेल में ठूस देते थे.

हिदू आतंकवाद का कुतर्क गढ़ने के लिए हमारी महान परंपरा को बदनाम करने का गंभीर षड्यंत्र और वह भी सिर्फ वोट और वोट बैंक की राजनीति के लिए करते थे. उसी का जवाब उन्हें मिल रहा है, चाहे जितने भी हवन करा दें, कितने भी जनेऊ दिखा दें, भगवा ड्रेस भी सिलवा लें, लेकिन भगवा पर आतंक के जो दाग लगाने की जो कोशिश की है, साजिश की है, उस पाप से कांग्रेस और महामिलावटी नहीं बच पाएंगे.”

ये भी पढ़ें- Viral Video: कमलनाथ के मंत्री ने दिग्विजय सिंह को दी मां की गाली

ये भी पढ़ें- जनता से वोट की अपील करने वाले दिग्विजय सिंह ने खुद नहीं डाला वोट