MP में सियासी घमासान हुई तेज, विधानसभा अध्यक्ष ने स्वीकारा 6 कांग्रेस विधायकों का इस्तीफा

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव (Gopal Bhargava) ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि 6 विधायकों के इस्तीफे स्पीकर ने स्वीकार किए हैं जबकि 22 विधायकों ने इस्तीफा दिया है. स्पीकर का यह दोहरा मापदंड क्यों है?
Madhya Pradesh Assembly Speaker, MP में सियासी घमासान हुई तेज, विधानसभा अध्यक्ष ने स्वीकारा 6 कांग्रेस विधायकों का इस्तीफा

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति (Narmada Prasad Prajapati) ने कांग्रेस (Congress) के 6 विधायकों का इस्ताफा स्वीकार कर लिया है. इनमें तुलसी सिलावट, इमरती देवी, गोविंद सिंह राजपूत, प्रभु राम चौधरी, प्रद्युम्न सिंह तोमर और महेंद्र सिंह सिसोदिया शामिल हैं. हाल ही में इन्हें राज्य मंत्रिमंडल से निकाल दिया गया था.

गोपाल भार्गव ने उठाए सवाल

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि 6 विधायकों के इस्तीफे स्पीकर ने स्वीकार किए हैं जबकि 22 विधायकों ने इस्तीफा दिया है. स्पीकर का यह दोहरा मापदंड क्यों है? अगर स्वीकार करने हैं तो सभी के इस्तीफे स्वीकार करने चाहिए.

मध्य प्रदेश में चल रहे सियासी घमासान के बीच राज्यपाल लालजी टंडन ने शनिवार को मुख्य सचिव एसआर मोहंती और पुलिस महानिदेशक विवेक चौधरी को तलब किया और उनके साथ राज्य के मौजूदा हालात पर चर्चा की.

राजभवन के सूत्रों के अनुसार, राज्यपाल टंडन ने मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को बुलाया था, और उनके साथ भोपाल के कलेक्टर भी थे. राज्यपाल ने वर्तमान हालात पर तीनों अधिकारियों से चर्चा की और उन्हें आवश्यक निर्देश भी दिए हैं.

कांग्रेस ने जारी किया व्हिप

गौरतलब है कि 16 मार्च से शुरू हो रहे मध्य प्रदेश विधानसभा सत्र में उपस्थित रहने के लिए कांग्रेस ने अपने विधायकों को व्हिप जारी कर दिया है. कांग्रेस के मुख्य सचेतक डॉ. गोविंद सिंह ने शनिवार रात थ्री लाइनर व्हिप जारी किया.

इसमें कहा गया है कि विधानसभा के पंचम सत्र के समस्त कार्य दिवस में अर्थात 16 मार्च से 13 अप्रैल तक सभी विधायक भोपाल में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहें. सभी सदस्य संपूर्ण कार्यवाही में उपस्थित रहें और किसी भी स्थिति में शासन के पक्ष में ही मतदान करें.

Related Posts