‘पति UPSC की तैयारी में लगा रहता है देखता तक नहीं’, पत्‍नी ने मांगा तलाक

पत्नी ने भोपाल के कुटुंब न्यायालय में तलाक की अर्जी दाखिल की है. उसका कहना है कि UPSC की तैयारी में खोए रहते हैं.
Wife asks for divorce bhopal husband upsc, ‘पति UPSC की तैयारी में लगा रहता है देखता तक नहीं’, पत्‍नी ने मांगा तलाक

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक पत्नी ने पति के ध्यान नहीं देने पर तलाक मांगा है. बताया जा रहा है कि भोपाल के कटारा हिल्स इलाके में रहने वाली एक महिला अपने पति के UPSC की तैयारी में व्यस्त रहने की वजह से परेशान है.

कुटुंब न्यायालय में अर्जी दाखिल

पत्नी ने भोपाल के कुटुंब न्यायालय में तलाक की अर्जी दाखिल की है. उसका कहना है कि UPSC की तैयारी में खोए रहते हैं और इस वजह से पति उस पर ध्यान नहीं दे रहा है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक महिला भोपाल के कटारा हिल्स इलाके में रहती है, उसने जिला विधिक सेवा प्राधिकरण में काउंसिलिंग के दौरान ये बातें बताई हैं. पत्नी ने कहा कि वह मुंबई की रहने वाली है.

पति ने नहीं पूछा हाल-चाल

इस वजह भोपाल में उसका कोई भी रिश्तेदार नहीं है, इसलिए उसका यहां मन नहीं लगता है. पत्नी ने बताया कि वो ससुराल में दो महीने रहने के बाद मायके चली गई थी, लेकिन पति ने एक बार भी उसे फोन करके हाल-चाल नहीं पूछा.

काउंसलिंग के दौरान पत्नी ने कहा कि पति कमरा बंद कर तैयारी में ही तल्लीन रहता है. वह इतना खोया रहता है कि कई बार को पूरे दिन उससे बात नहीं करता.

पत्नी के मुताबिक उसने कई बार पति को शॉपिंग कराने, फिल्म दिखाने और बाहर घूमने ले जाने के लिए कहा लेकिन पति ने उसकी बातों पर ध्यान नहीं दिया. यहां तक कि वह अपने रिश्तेदारों के घर भी नहीं जाता.

पति ने काउंसलिंग में बताई ये बात

काउंसलर नुरान्निशा खान ने जब पति को काउंसलिंग के लिए बुलाया, तो उसने बताया कि उसने बचपन से ही UPSC को अपना लक्ष्य बनाया हुआ है. ऐसे में उसका ज्यादातर समय कोचिंग और पढ़ाई में निकलता है.

शादी का दबाव बनाया गया

पति का कहना है कि वो दो बार UPSC प्रीलिम्स एग्जाम निकाल चुका है, लेकिन मुख्य परीक्षा से दोनों बार बाहर हो गया. पति ने कहा कि वह शादी नहीं करना चाहता था, लेकिन माता-पिता का इकलौता बेटा होने के कारण उस पर बार-बार शादी का दबाव बनाया जा रहा था.

काउंसलर के मुताबिक पति को अपनी पत्नी से किसी भी प्रकार की कोई शिकायत नहीं है, लेकिन उसे लगता है कि उसका वैवाहिक जीवन स्थिर नहीं है और वह नहीं चाहता कि स्थितियां आगे जाकर और बिगड़े.

तलाक न लेने की समझाइश

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की काउंसलर नूरन्निशा खान ने इस मामले में पति-पत्नी दोनों को तलाक न लेने की समझाइश दे रही हैं. उन्होंने पत्नी को पति का साथ देने को कहा है. साथ ही पति की भी काउंसिलिंग की जा रही है.

ये भी पढ़ें- युवक ने सिक्योरिटी गार्ड की बंदूक से की फायरिंग, वीडियो पोस्ट कर लिखा- ‘आज फिर चली गोली’

ये भी पढ़ें- मध्‍य प्रदेश कांग्रेस में फूट, सिंधिया को प्रदेश अध्‍यक्ष न बनाए जाने पर बागी हुए नेता

Related Posts