इंदौर: मुस्लिम युवकों ने पेश की भाईचारे की मिसाल, हिंदू महिला का किया अंतिम संस्कार

कुछ दिनों से मां बीमार थीं. रात को मोहल्ले में रहने वालों मुस्लिम परिवार (Muslim Family) के लोगों ने उनकी तबीयत पूछी थी. फिर सुबह जब देखा तो मुहल्ले में रोना-धोना शुरू हो गया था.

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) में इंसानियत की बेहतरीन मिसाल देखने को मिली. यहां पर एक हिंदू ‘मां’ का अंतिम संस्कार मुस्लिमों ने किया. दरअसल, इंदौर के साउथ तोड़ा जूना गणेश मंदिर में रहने वाली एक बुजुर्ग महिला को मुहल्लेवाले दुर्गा मां नाम से पुकारते थे.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

कुछ दिनों से मां बीमार थीं. रात को मोहल्ले में रहने वालों मुस्लिम परिवार के लोगों ने उनकी तबीयत पूछी थी. फिर सुबह जब देखा तो मुहल्ले में रोना-धोना शुरू हो गया था.

बेटों के पास नहीं थे अंतिम संस्कार के पैसे

मालूम हुआ कि मां नहीं रहीं. उनके दो लड़के हैं, जो कहीं और रहते है. उन्हें बुलाया गया. जब वो आये तो उनके पास इतने पैसे भी नहीं थे कि अपनी मां का अंतिम संस्कार कर सकें.

इसके बाद मुहल्ले के अकील भाई, असलम भाई, मुद्दसर भाई, राशिद इब्राहिम मामू, इमरान सिराज जैसे मुस्लिमों भाइयों ने अपनी मां का अंतिम संस्कार किया. इस तरह से इन्होंने एक सुनहरी इबारत लिखी जो दुनिया में बहुत ही कम देखने को मिलती है.

आज के इस माहौल में एक हिंदू मां के लिए मुस्लिमों ने जो काम किया, वो नफरत फैलाने वालों के मुंह पर जोरदार तमाचा है. तमाचा उनके लिए है जो हिन्दू-मुस्लिम को बांटकर अपनी राजनीति करते हैं.

तस्वीर में देखिए कि किस तरह से मुस्लिम भाई सिर पर टोपी लगाके कंधा दे रहे हैं. मानो जैसे अपनी सगी मां को कंधा दे रहे हो. इतना ही नहीं, मुखाग्नि में भी ये लोग साथ रहे.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts