मध्य प्रदेश के कई इलाके बाढ़ में डूबे, मौसम विभाग ने दी है ये चेतावनी

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में राज्य के 18 जिलों में भारी बारिश होने की चेतावनी दी है.

भोपाल: मध्य प्रदेश के कई जिलों में बारिश आफत लेकर आई है. राज्य में हालात बाढ़ जैसे बन गए हैं. मंदसौर के शनि विहार और अशोक नगर के इलाके में गुगलिया नाले और शिवना नदी का पानी घुस रहा है. यहां पर प्रशासन ने बस्तियों को खाली करा लिया है. साथ ही लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जा रहा है.

स्थानीय लोगों का कहना है कि उन्हें मकान खाली करना पड़ रहा है. बारिश अगर नहीं रुकी तो हालात बदतर हो सकते हैं. वहीं सांसद सुधीर गुप्ता ने मौके पर पहुंचकर हालात का जायजा लिया. सुधीर गुप्ता ने कहा कि गलती किसकी है या जिम्मेदार कौन है, इस पर चर्चा बाद में करेंगे वर्तमान में लोगों को सुरक्षित रखना प्राथमिकता है.

मंदसौर एसपी हितेश चौधरी ने बताया कि एनडीआरएफ की टीम को एहतियात के तौर पर बुलवाया गया है. ये टीमें इंदौर और रतलाम से आ रही हैं. मंदसौर में शिवना नदी का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है, जिसके कारण बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं.

राज्य का केवल मंदसौर ही ऐसा जिला नहीं है जहां बारिश ने कहर बरपाया है. सागर, अशोकनगर, गुना, झालावाड़ और देवास के हालात भी बारिश के कारण कुछ ऐसे ही बने हुए हैं. इस आफत की बारिश के कारण लोगों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है.

बारिश के कारण कई ट्रेन भी रद्द कर दी गईं. सड़कों पर जलभराव के कारण लोगों को आवाजाही में परेशानी हो रही है. कुदरत के इस कहर से केवल इंसान ही परेशान नहीं है बल्कि जानवरों को भी समस्या हो रही है.

मौसम विभाग ने 19 अगस्त तक के लिए अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटों के दौरान प्रदेश में 40 जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश होने की चेतावनी दी है.

इन जिलों में भोपाल, रायसेन, राजगढ़ विदिशा, सीहोर, होशंगाबाद, बैतूल, हरदा, नीचम, मंदसौर, रतलाम, उज्जैन, आगर, शाजापुर, देवास, गुना, शिवपुरी, अशोकनगर, श्योपुर, इंदौर, धार, खंडवा, छतरपुर, सागर, दमोह, टीकमगढ, छिंदवाड़ा, जबलपुर, कटनी, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, उमरिया, अनूपपुर, डिंडोरी, सतना, ग्वालियर, दतिया, भिंड और मुरैना शामिल हैं.

ये भी पढ़ें-  कश्मीर मुद्दे पर चीन ने चली चाल, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में की चर्चा कराने की मांग

UNSC में आज सुबह 10 बजे बंद दरवाजे के पीछे होगी कश्मीर मुद्दे पर चर्चा, चीन ने खेला है दांव