MP Crisis: इस्तीफों से पहले और इस्तीफों के बाद क्या कहते हैं विधानसभा के आंकड़े

ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के इस्तीफे बाद मध्यप्रदेश सरकार (Madhya Pradesh Government) में ऐसी हलचल मची कि एक के बाद एक सिंधिया समर्थक विधायकों ने इस्तीफा देना शुरू कर दिया.
MP Crisis What the assembly's figures say, MP Crisis: इस्तीफों से पहले और इस्तीफों के बाद क्या कहते हैं विधानसभा के आंकड़े

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कमलनाथ सरकार (kamal Nath Government) की होली (Holi) का रंग उस समय फीका पड़ गया जब कांग्रेस (Congress) के पुराने और सीनियर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से मुलाकात के बाद पार्टी से इस्तीफा दे दिया. इसके बाद मध्यप्रदेश सरकार (Madhya Pradesh Government) में ऐसी हलचल मची कि एक के बाद एक सिंधिया समर्थक विधायकों ने इस्तीफा देना शुरू कर दिया और अब तक कांग्रेस के 22 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं.

विधायकों के इस्तीफे के बाद राज्य विधानसभा (Assembly Seats) में सीटों का आंकड़ा बदल गया है. यहां समझे इस्तीफों से पहले और इस्तीफों के बाद कैसे बदला विधासभा का अंकगणित.

इस्तीफों से पहले विधानसभा में सीटों का गणित

मध्यप्रदेश में कुल 230 विधानसभा सीट हैं. जिसकी वर्तमान संख्या 227 है. राज्य में बहुमत का आंकड़ा 115 है. वहीं अगर पार्टी के हिसाब से सीटों पर नजर डालें तो….

  • कांग्रेस- 114 + 6 सहयोगी = 120
  • बीजेपी- 104

इस्तीफों के बाद विधानसभा में सीटों का गणित

  • इस्तीफों के बाद सीट- 205 (227-22)
  • बहुमत का आंकड़ा- 103
  • कांग्रेस- 92 (92+6 सहयोगी)- 98
  • बीजेपी- 107

इस्तीफों के बाद के आंकड़ों पर अगर नजर डाली जाए तो, कांग्रेस का बहुमत जा रहा और बीजेपी के पास बहुमत से 4 सीट ज्यादा है. वहीं मंगलवार को बीजेपी नेता भूपेंद्र चौधरी ने स्पीकर को 19 कांग्रेस विधायकों का इस्तीफा भी सौंप दिया है.

Related Posts