बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने शपथ के दौरान पढ़ा इतना लंबा नाम, सदन में मच गया हंगामा

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने जैसे ही शपथ लेनी शुरू की तो विपक्ष के सदस्यों ने उनके नाम को लेकर आपत्ति जताई और हंगामा करने लगे.

नई दिल्ली: सोमवार को संसद भवन में सभी निर्वाचित सांसदों को शपथ दिलाई जा रही है. भोपाल से बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने जब शपथ ली तो संसद सदन में हंगामा शुरू हो गया.

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर जैसे ही शपथ लेनी शुरू की तो विपक्ष के सदस्यों ने उनके नाम को लेकर आपत्ति जताई और हंगामा करने लगे. जानकारी के मुताबिक प्रज्ञा सिंह ठाकुर संस्कृत में शपथ ले रही थीं, जैसे ही उन्होंने संस्कृत में अपने नाम का उच्चारण किया, विपक्ष ने इसका विरोध किया और कहा कि वे सिर्फ अपने नाम का ही उच्चारण करें.

साध्वी प्रज्ञा ने संस्कृत में कहा, “मैं साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर स्वामी पूर्णचेतनानंद अवधेशानंद गिरी लोकसभा सदस्य के रूप में…” साध्वी प्रज्ञा के इस कथन के बाद कुछ लोगों ने टोकाटोकी शुरु कर दी. इसके बाद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर रुक गईं.

प्रज्ञा सिंह ठाकुर बीजेपी से उम्मीदवार बनने के बाद से ही विवादों में रहीं. उन्होंने एक के बाद एक विवादित बयान दिए थे. नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने वाला बयान सुर्खियों में रहा था. उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान कह था, “नाथूराम गोडसे देशभक्‍त थे, हैं और रहेंगे. उनको आतंकवादी कहने वाले लोग स्‍वयं के गिरेबान में झांककर देखें. अबकी चुनाव में ऐसे लोगों को जवाब दे दिया जाएगा.”

इसके बाद बीजेपी ने अपने आप को बयान से अलग कर सफाई दी थी कि ये उनका बयान निजी है. पीएम मोदी ने एक चैनल को इंटरव्यू देते हुए कहा कि प्रज्ञा ठाकुर ने गांधी के बारे में जो बोला वो बहुत खराब है. घृणा के लायक है. किसी भी सभ्य समाज के लिए अच्छी बात नहीं है. भले प्रज्ञा ने माफी मांग ली है लेकिन मैं उन्हें कभी मन से माफ नहीं कर पाऊंगा.

ये भी पढ़ें- LIVE: भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के शपथ ग्रहण पर हुआ हंगामा