CAA की समर्थन रैली में झड़प, प्रदर्शनकारी ने डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा के खींचे बाल, VIDEO

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करके पूछा है कि, 'क्या उन्हें प्रदर्शनकारियों को पीटने का आदेश मिला था? आज का दिन लोकतंत्र के सबसे काले दिनों में गिना जाएगा.'

मध्य प्रदेश में रविवार को बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में प्रदर्शन किया. इस दौरान प्रदेश के राजगढ़ जिले में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हो गई. देखते ही देखते ये झड़प हिंसा में बदल गई.

इसी बीच डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को मारा-पीटा. इस पर एक प्रदर्शनकारी भड़क गया और उसने प्रिया वर्मा के बाल खींच दिए. इस घटना का वीडियो सामने आया है. वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.


इस मामले पर प्रदेश की राजनीति गरम होती नजर आ रही है. एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करके पूछा है कि, ‘क्या उन्हें प्रदर्शनकारियों को पीटने का आदेश मिला था? आज का दिन लोकतंत्र के सबसे काले दिनों में गिना जाएगा.’

शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया, “आज का दिन लोकतंत्र के सबसे काले दिनों में गिना जाएगा. आज राजगढ़ में डे. कलेक्टर साहिबा ने जिस बेशर्मी से CAA के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं को लताड़ा, घसीटा और चांटे मारे, उसकी निंदा मैं शब्दों में नहीं कर सकता. क्या उन्हें प्रदर्शनकारियों को पीटने का आदेश मिला था?”


गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के इंदौर में सीएए के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोगों की शुक्रवार को पुलिस से झड़प हो गई थी. पुलिस द्वारा बल प्रयोग किए जाने से कई लोगों को चोटें आई थीं. इस मामले के तूल पकड़ने पर कांग्रेस की मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने आंदोलनकारियों के बीच पहुंचकर घटनाक्रम की निंदा की और जांच कराने का भरोसा दिलाया.

सीएए के विरोध में बड़वाली चौकी स्थित जामा मस्जिद के बाहर बीते दो दिनों से प्रदर्शन हो रहा था. इस विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए कुछ नेताओं और प्रशासन के अधिकारियों ने प्रयास किए थे, लेकिन प्रदर्शनकारी नहीं माने और विरोध पर बैठे रहे. इस तरह से विवाद बढ़ता चला गया.

ये भी पढ़ें-

घोषणापत्र से पहले केजरीवाल का ‘गारंटी कार्ड’, सस्‍ता इलाज-मोहल्ला मार्शल समेत किए 10 वादे

शिरडी बंद: बैकफुट पर आए उद्धव ठाकरे, विवाद सुलझाने के लिए बुलाई मीटिंग

Kashmir Exodus Day: केंद्रीय मंत्री गिरिराज बोले, ‘डल लेक पर फिर से वेद के मंत्र पढ़े जाएंगे’