मध्य प्रदेश: हनी ट्रैप की जांच के लिए बनी SIT में फिर बदलाव, चीफ संजीव शमी का हुआ ट्रांसफर

हनी ट्रैप मामले की जांच के लिए गठित SIT में बार- बार हो रहे बदलाब ने सरकार की मंशा पर भी सवालिया निशान लगा दिया है. सबसे पहले CID IG डी श्रीनिवास वर्मा को इस मामले की जांच करने वाली SIT का चीफ बनाया था.

मध्य प्रदेश हनी ट्रैप मामले में एक नया मोड़ आ गया है. मामले की जांच कर रहे SIT चीफ संजीव शमी का ट्रांसफर कर दिया गया है. शमी को एडीजी एटीएस से हटाकर एडीजी चयन एवं भर्ती बनाया गया है. हनी ट्रैप की जांच के लिए गठित SIT के चीफ का प्रभार भी संजीव शमी से छीन लिया गया है. SIT चीफ के ट्रांसफर के अलावा SIT में भी बदलाव हुआ है.

अब 3 सदस्यीय टीम इस मामले की  जांच करेगी. स्पेशल डीजी साइबर राजेंद्र कुमार, एडीजी साइबर मिलिंद कानस्कर और एसएसपी रुचि वर्धन इस SIT के सदस्य हैं. मालूम हो कि मध्य प्रदेश में 15 आईपीएस अधिकारियों के ट्रांसफर हुए हैं. डीजीपी के साथ विवाद के बाद चर्चा में आए डीजी पुरुषोत्तम शर्मा का भी ट्रांसफर किया गया है. उन्हें एडीजी साइबर से हटाकर संचालक लोक अभियोजन बनाया गया है.

हाई प्रोफाइल मामले की लीपापोती में लगी सरकार!

हनी ट्रैप मामले की जांच के लिए गठित SIT में बार- बार हो रहे बदलाब ने सरकार की मंशा पर भी सवालिया निशान लगा दिया है. सबसे पहले CID IG डी श्रीनिवास वर्मा को इस मामले की जांच करने वाली SIT का चीफ बनाया था. 24 घंटे के अंदर ही वर्मा की जगह ATS ADG संजीव शमी को SIT चीफ बनाया  गया. मंगलवार को एक बार फिर जांच के लिए गठित SIT में बदलाब किए गए. अब तीन सदस्यीय टीम करेगी हाई प्रोफाइल हनी ट्रैप की जांच करेगी.

ये भी पढ़ें: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हथिया नक्षत्र को ठहराया बिहार में बाढ़ का जिम्मेदार