MP Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- 16 विधायकों के इस्तीफे पर 24 घंटे के अंदर हो फैसला

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने सुझाव दिया कि 16 बागी विधायकों (Rebel MLAs) की वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग होगी और अदालत इसके लिए एक पर्यवेक्षक नियुक्त करेगी.
Supreme Court hearing MP Crisis, MP Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- 16 विधायकों के इस्तीफे पर 24 घंटे के अंदर हो फैसला

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में जारी सियासी संकट के बीच बहुमत परीक्षण को लेकर सुप्रीम कोर्ट में (Supreme Court) आज फिर सुनवाई हुई. इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राज्य के 16 बागी कांग्रेसी विधायकों के इस्तीफे पर निर्णय ‘एक दिन के अंदर’ लिया जाए.

सुप्रीम कोर्ट ने सुझाव दिया कि 16 बागी विधायकों की वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग होगी और अदालत इसके लिए एक पर्यवेक्षक नियुक्त करेगी. शीर्ष न्यायालय ने प्रस्ताव देते हुए कहा कि बागी विधायक तटस्थ स्थान पर विधानसभा अध्यक्ष के सामने खुद को पेश कर सकते हैं.

राजनीतिक दांव पेंच जारी

अदालत से लेकर बेंगलुरु तक राजनीतिक दांव पेंच जारी हैं. इससे पहले शीर्ष अदालत में मामले पर बुधवार को दिनभर सुनवाई हुई. सुप्रीम कोर्ट ने पहले दिन की सुनवाई के दौरान मध्य प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष पर कड़ा रुख अख्तियार किया और 16 विधायकों के इस्तीफे ना स्वीकारने का कारण पूछा.

अदालत में कांग्रेस (Congress) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) पक्ष के वकीलों में कई बार गरमागरम बहस भी हुई. बीजेपी के वकीलों ने सभी 16 बागी विधायकों को पेश करने की इच्छा जाहिर की थी, जिसे अदालत ने ठुकरा दिया था.

बीजेपी ने चुनाव आयोग से की शिकायत

अदालत में कानूनी पहलुओं पर इस मसले को मापा जा रहा है, वहीं भोपाल (Bhopal) और बेंगलुरु (Bengaluru) में भी सियासी खेल जारी है. भोपाल में बीजेपी ने दिग्विजय सिंह की शिकायत चुनाव आयोग से की है. बीजेपी ने आरोप लगाया है कि राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस नेता विधायकों को डराने की कोशिश कर रहे हैं.

वहीं दूसरी ओर बुधवार को बेंगलुरु में सियासी ड्रामा चरम पर रहा. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) सुबह-सुबह बागी विधायकों से मिलने रिजॉर्ट पहुंचे, लेकिन राज्य पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया. शाम तक वो बाहर आए तो कर्नाटक हाईकोर्ट में विधायकों से मिलने की इजाजत मांगी लेकिन याचिका ही खारिज हो गई.

आईएएनएस

Related Posts