MP के भिंड-मुरैना में 14 हजार लीटर सिंथेटिक दूध बरामद, इन 5 राज्यों में करते थे 1.5 लाख लीटर की सप्लाई

एसटीएफ की 20 टीमों ने छापा मारकर 57 लोगों को हिरासत में लिया. ऐसा दावा किया जा रहा है कि...

भोपाल: मध्य प्रदेश एसटीएफ ने शुक्रवार को भिंड और मुरैना में हानिकारक केमिकल से सिंथेटिक दूध और मावा बनाने वाली तीन फैक्ट्रियों पर छापा मारा. एसटीएफ की छापेमारी केमिकल और रॉ मटेरियल सप्लाई करने वाले दो सप्लाई सेंटरों पर भी हुई है. छापेमारी में बड़ी मात्रा में केमिकल व मिलावटी 14 हजार लीटर से ज्यादा दूध, 100 किलो मावा, 1500 किलो पनीर जब्त किया.

इन राज्यों में की जाती है सप्लाई
एसटीएफ की 20 टीमों ने छापा मारकर 57 लोगों को हिरासत में लिया. ऐसा दावा किया जा रहा है कि इन फैक्ट्रियों से मप्र, राजस्थान, हरियाणा, उप्र और दिल्ली में रोजाना करीब डेढ़ लाख लीटर सिंथेटिक दूध सप्लाई किया जाता है.

एसपी एसटीएफ भोपाल राजेश सिंह भदौरिया ने बताया, “आरोपियों ने दूध बनाने वाले चार बड़े ब्रांड के नाम भी बताए हैं. कंपनियों के क्वॉलिटी कंट्रोल के लोगों से आरोपियों की साठगांठ थी, इसलिए वे आसानी से सिंथेटिक दूध सप्लाई कर देते थे. इसलिए सिंथेटिक दूध को वे हानिकारक नहीं बताते थे. फिर यही दूध आपके और हमारे घरों में पहुंचने वाले दूध में मिला दिया जाता था.”

ऐसे बनाते हैं सिंथेटिक दूध
मालूम हो कि सिंथेटिक दूध बनाने के लिए पहले दूध में पांच गुना पानी, माल्टोस डेक्सिटन पाउडर, शैंपू मिलाया जाता है. चिकनाहट के लिए रिफाइंड ऑयल और अंत में केमिकल मिलाए जाते हैं. इस केमिकल के इस्तेमाल से दूध जल्दी खराब नहीं होता है. सिंथेटिक दूध स्वास्थ्य के लिए घातक होता है. एक लीटर सिंथेटिक दूध बनाने की कीमत 6 से 8 रुपये तक आती है.

बता दें कि भोपाल दुग्ध संघ के दायरे में 14 जिले आते हैं. दुग्ध संघ को 2500 सहकारी समितियों के एक लाख किसान दूध सप्लाई करते हैं. मालीबायां, बैतूल, मुलताई समेत 28 चीलिंग सेंटरों से टैंकरों के जरिए 3.70 लाख लीटर दूध पहुंचाया जाता है. भोपाल में रोजाना 2.70 लाख लीटर सप्लाई होता है.

ये भी पढ़ें-

झारखंड में फिर मॉब लिंचिंग, डायन बताकर 2 महिलाओं समेत 4 लोगों को पीट-पीटकर मार डाला

DDLJ थी शीला दीक्षित की फेवरेट फिल्म, इतनी बार देखी कि घरवालों से मिल गई वॉर्निंग

LIVE: पूर्व सीएम शीला दीक्षित का 2.30 बजे अंतिम संस्कार, कांग्रेस हेडक्ववार्टर लाया जाएगा पार्थिव शरीर