मासूम पर स्क्रू ड्राइवर से वार, करंट लगाया और 5 घंटे तक तड़पाया

ये अमानवीय घटना बैतूल जिले के बोरदेही थाना क्षेत्र के गांव छिंदी की है .बताया जा रहा है कि 1 सितंबर को इसी गांव की कुछ लोगों ने 12 साल के नाबालिक बच्चे को उठाकर अपने खेत ले गए और उसे रस्सी से बांधकर उसे अमानवीय प्रताड़ना दी.

बैतूल: मध्यप्रदेश के बैतूल में एक नाबालिग बच्चे को अमानवीय प्रताड़ना देने का मामला सामने आया है. 12 साल के बच्चे को पहले रस्सी से बांध दिया गया फिर पेट में स्क्रू ड्राइवर से घाव किए गए. बच्चे को पांच घंटे तक यातनाएं दी गई. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.

ये अमानवीय घटना बैतूल जिले के बोरदेही थाना क्षेत्र के गांव छिंदी की है .बताया जा रहा है कि 1 सितंबर को इसी गांव की कुछ लोगों ने 12 साल के नाबालिक बच्चे को उठाकर अपने खेत ले गए और उसे रस्सी से बांधकर उसे अमानवीय प्रताड़ना दी.

पीड़ित बच्चे का कहना है कि उसे 5 घंटे तक रस्सी से बांधा गया और उसके पेट में स्क्रू ड्राइवर से घाव दिए इन घाव से बच्चा तड़पता रहा. जब शाम को उसके एक रिश्तेदार आए तब बच्चे को छुड़ाया. इसकी शिकायत बोरदेही पुलिस में की गई. पीड़ित बच्चे का कहना है कि उसे मोबाइल चोरी के शक में ले गए थे और उसे करंट भी लगाया.

स्क्रू ड्राइवर से पेट में कई जगह घाव दिए गए जोकि बच्चे के पेट में घाव दिख रहे हैं. इन घावों को देखकर समझा जा सकता है कि बच्चे को किस तरह से प्रताड़ित किया गया होगा.
पुलिस ने पीड़ित बच्चे के पिता की शिकायत पर चिंद्दी गांव के रूप सिंह रघुवंशी और कैलाश रघुवंशी के खिलाफ धारा 341,294,323,506,और किशोर न्याय अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है.