मध्य प्रदेश: तीन दिन की हड़ताल पर ट्रक ऑपरेटर्स, Covid-19 के चलते टैक्स में छूट देने की मांग

ट्रक ऑपरेटर्स का कहना है कि मध्य प्रदेश में डीजल (Diesel) पर वैट सबसे ज्यादा है. इस वजह से डीजल की कीमतें आसमान छू रही हैं. इसलिए प्रदेश सरकार को दिल्ली (Delhi) की तर्ज पर बढ़े हुए दाम कम करने चाहिए.
Madhya Pradesh Truck operators on three day strike, मध्य प्रदेश: तीन दिन की हड़ताल पर ट्रक ऑपरेटर्स, Covid-19 के चलते टैक्स में छूट देने की मांग

मध्य प्रदेश (MP) में ट्रक ऑपरेटर्स (Truck Operators) तीन दिन की हड़ताल पर चले गए हैं. एसोसिएशन का दावा है कि करीब 7 लाख से ज्यादा रजिस्ट्रर्ड वाहनों के पहिए थम गए हैं.

“दिल्ली की तर्ज पर कम किए जाएं तेल के दाम”

ट्रक ऑपरेटर्स का कहना है कि मध्य प्रदेश में डीजल (Diesel) पर वैट सबसे ज्यादा है. इस वजह से डीजल की कीमतें आसमान छू रही हैं. इसलिए प्रदेश सरकार को दिल्ली (Delhi) की तर्ज पर बढ़े हुए दाम कम करने चाहिए.

“तीन महीनों के टैक्स में दी जाए छूट”

इसके अलावा ऑपरेटर्स की मांग है कि कोरोना (Coronavirus) काल में ट्रकों के पहिए थमे हुए थे, जिसकी वजह से आमदनी नहीं हो पाई है और ऑपरेटर्स नुकसान में हैं. लिहाजा ट्रक ऑपरेटर्स को इन 3 महीनों के टैक्स में छूट दी जानी चाहिए.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

एसोसिएशन का कहना है कि हड़ताल सांकेतिक है और फल, सब्जी, दूध और इमरजेंसी उत्पादों पर हड़ताल का कोई असर नहीं पड़ेगा.

कमलनाथ ने किया ट्रक ऑपरेटर्स की मांग का समर्थन 

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने इस मामले पर ट्वीट कर कहा, “प्रदेश में ट्रक ऑपरेटर्स और बस ऑपरेटर्स कोरोना के इस संकट काल को देखते हुए डीजल पर लगने वाले टैक्स में कमी व रोड टैक्स सहित अन्य करो में राहत की मांग निरंतर कर रहे है. मैंने भी कई बार इनकी मांगों को दोहराया है और मुख्यमंत्री को इस संबंध में राहत प्रदान करने संबंधी पत्र भी लिखे हैं.”

कमलनाथ ने लिखा, “पूरे प्रदेश में बस ऑपरेटर्स ने विरोधस्वरुप अपनी बसो का संचालन बंद कर रखा है और अब आज से ट्रक एसोसिएशन ने भी प्रदेश में तीन दिवसीय हड़ताल का आव्हान किया है. इससे व्यापार-व्यवसाय प्रभावित होगा व बसो के बंद रहने से आम जनजीवन पहले से ही प्रभावित है.कांग्रेस उनकी मांग का समर्थन करती है और हम सरकार से मांग करते हैं कि जनहित में उनकी मांगों को तत्काल मान कर उन्हें राहत प्रदान की जाए.”

“सरकार कर रही मांग पर विचार”

वहीं इस मामले में बीजेपी प्रवक्ता राहुल कोठारी का कहना है कि हड़ताल करना गलत है. उनकी जो भी वाजिब मांगे हैं, उन पर सरकार विचार कर रही है, लेकिन इस तरह से हड़ताल पर जाकर काम प्रभावित करना सही नहीं है. ट्रक एसोसिएशन को अपनी हड़ताल वापस लेनी चाहिए.

“सरकार का सिर्फ विधायकों की खरीद-फरोख्त पर ध्यान”

इसके उलट कांग्रेस ने सरकार पर अनदेखी का आरोप लगाया है. कांग्रेस प्रवक्ता भूपेंद्र गुप्ता ने कहा कि सरकार सिर्फ विधायकों की खरीद-फरोख्त पर ध्यान देती है. आम लोगों की मुश्किलों पर सरकार का ध्यान नहीं है. ट्रांसपोर्टर नुकसान में हैं और आम जनता परेशान हो रही है, लेकिन सरकार सो रही है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts