मदरसे में लोहे की जंजीरों से बंधे मिले दो मासूम बच्चे, पुलिस ने कराया मुक्त

पुलिस के मुताबिक एक बच्चा 10 साल का है और दूसरे की उम्र महज 7 साल है. सोनागिरी पिपलानी थाना क्षेत्र के निवासी हैं, उन्होंने पढ़ाई से बचने के लिए भागने की कोशिश की थी.

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में दो मासूम बच्चो को बेंच और जंजीर से बांधकर तालीम दिए जाने की भयानक घटना सामने आई है. पुलिस को थाना क्षेत्र के अंतरगत आने वाले मदरसे से 2 मासूम बच्चे बेंच और जंजीर से बंधे मिले. स्थानीय लोगों की सूचना पर पुलिस वहां पहुंची थी.

मौके पर पहुंच कर पुलिस ने दोनों बच्चो को मुक्त कराया और निजी मदरसे के संचालक मोहम्मद साद को हिरासत में ले लिया. अशोका गार्डन पुलिस इस मामले की पड़ताल कर रही है. पुलिस कागजी करवाई के बाद FIR दर्ज करेगी.

पुलिस का कहना है कि उन्हें स्थानीय लोगों ने सूचना दी की दो बच्चे हैं जिनमें से एक को लोहे की जंजीर के साथ बैंच से बंधा हुआ है. सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों बच्चों को थाने ले आए. बच्चों से पूछताछ करने पर पता चला कि थाना क्षेत्र के अंतरगत आने वाले जकारिया मदरसे में वो बच्चे पढ़ते हैं.

पुलिस ने बच्चों के परिजनों को भी थाने बुलाया. पुलिस के मुताबिक एक बच्चा 10 साल का है और दूसरे की उम्र महज 7 साल है. सोनागिरी पिपलानी थाना क्षेत्र के निवासी हैं, उन्होंने पढ़ाई से बचने के लिए भागने की कोशिश की थी. पहले भी उनकी ऐसी शिकायतें आई थीं, इसलिए मदरसा प्रबंधन ने उनको लोहे की जंजीरों से बांधा था.

बच्चे थाने पर मौजूद हैं और चाइल्ड हेल्पलाइन की टीम भी थाना पहुंच चुकी है और वह बच्चों से पूछताछ कर रही है. साथ ही बच्चों को काउंसलिंग भी दी जा रही है. पूछताछ के बाद जो जानकारी मिलेगी, पुलिस उसके आधार पर कार्रवाई करेगी.

ये भी पढ़ें: शरद पवार ने की पाकिस्तान की तारीफ, कहा- भारतीयों की सोच के उलट वहां के लोग खुश