Vikas Dubey Arrested: जांच के लिए उज्जैन पुलिस भी बनाएगी टीम, महाकाल मंदिर के स्टाफ से होगी पूछताछ

उज्जैन (Ujjain) के SP मनोज सिंह (Manoj Singh) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि सबसे पहले मंदिर के बाहर एक फूल वाले को इस पर शक हुआ था, जिसके बाद उसने सबसे पहले मंदिर के सिक्योरिटी गार्ड को फोन किया.
Vikas Dubey Arrested Ujjain police, Vikas Dubey Arrested: जांच के लिए उज्जैन पुलिस भी बनाएगी टीम, महाकाल मंदिर के स्टाफ से होगी पूछताछ

कानपुर एनकाउंटर (Kanpur Encounter) के मुख्य आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) की गिरफ्तारी के बाद उज्जैन पुलिस (Ujjain Police) ने बताया कि आखिर महाकाल मंदिर (Mahakal Mandir) में वो किस तरह से पकड़ में आया था.

मंदिर के बाहर फूल वाले को हुआ शख्स

दरअसल उज्जैन के SP मनोज सिंह (Manoj Singh) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि सबसे पहले मंदिर के बाहर एक फूल वाले को इस पर शक हुआ था, जिसके बाद उसने सबसे पहले मंदिर के सिक्योरिटी गार्ड को फोन किया और बताया कि ये शख्स विकास दुबे जैसे लग रहा है.

शुरुआत में छिपा रहा था अपना नाम

इसके बाद प्राइवेट सिक्योरिटी वालों ने महाकाल चौकी में तैनात पुलिस को सूचना दी, जैसे ही वो निर्गम द्वार पर आया, तो उससे उसका नाम पूछा गया. पहले उसने अपना नाम छिपाया, लेकिन जब सख्ती से पूछा गया तब उसने बताया, “मैं विकास दुबे हूं.”

यूपी STF के हवाले विकास दुबे

मनोज सिंह ने बताया कि हमने विकास दुबे को यूपी एसटीएफ के हवाले कर दिया है. SSP कानपुर का मेरे पास लिखित में पत्र है कि विकास दुबे को हमारे हवाले किया जाए. हमने सिर्फ पंचनामा बनाकर उसे यूपी एसटीएफ के हवाले कर दिया है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

जांच के लिए अलग से टीम बनाएगी उज्जैन पुलिस

उन्होंने कहा कि थोड़ी सी भी चूक हो जाती, तो वह उज्जैन से दर्शन करके निकल जाता. इस मामले में जो कुछ भी हुआ है उस पर हमारी जांच जारी रहेगी. साथ ही सिंह ने कहा कि उज्जैन पुलिस इस मामले की जांच के लिए अलग से जांच टीम का गठन करेगी.

महाकाल मंदिर के स्टाफ से भी होगी पूछताछ

उज्जैन एसपी ने बताया कि महाकालेश्वर मंदिर के अंदर काम करने वाला स्टाफ भी जांच के दायरे में है. एक टीम सिर्फ इसी मामले को लेकर जांच करेगी कि विकास दुबे कहां रुका था? क्योंकि पुलिस को उसने पहले जानकारी दी थी कि वो कल रात को आया था. उसने पुलिस से कहा था कि वो होटल में रुका था. बाद में उसने किसी कारोबारी के घर रुकने की बात कही.

विकास दुबे के साथ वाले नहीं पकड़े गए

पुलिस ने बताया कि पूछताछ में उसने बुलेरो गाड़ी, ड्राइवर और एक रिश्तेदार बंटी उर्फ अभिषेक का जिक्र किया है. अफसरों ने कहा कि विकास दुबे को तो हमने पकड़ लिया. हमारा फोकस सिर्फ वही था इसलिए उसके साथ वाला कोई नहीं पकड़ा जा सका.

आसानी से गिरफ्त में आने की भी होगी जांच

वहीं एक वरिष्ठ अफसर ने ऑफ द रिकॉर्ड चर्चा में कहा है कि हमारे लिए ये गंभीर विषय है कि इतना बड़ा और शातिर अपराधी इतनी आसानी से गिरफ्तार कैसे हो सकता है, इसकी जांच जरूरी है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts