सिक्‍कों के बोझ से दबी BEST की चेस्‍ट, रोज आ रहे डेढ़ करोड़ रुपये के चिल्‍लर

BEST के मुताबिक बैंकों में जमा किए 10 कोरड़ रूपए के सिक्कों  के बदले नोट मिलना मुश्किल हो रहा है. बेस्ट की ओर से बैंकों को 13 बार चिठ्ठी लिखी जा चुकी है. इन बैंकों में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया, कैनरा बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, बैंक ऑफ बरोदा और तीन कॉपरेटिव बैंक शामिल हैं. अब बेस्ट ने RBI से संपर्क किया है. RBI की ओर से भी जवाब नहीं दिया गया है. .

बृहन्मुंबई इलेक्ट्रिक सप्लाई एंड ट्रांसपोर्ट यानी BEST के सामने एक अजीब समस्‍या है. उसके पास इतने सिक्‍के आ रहे हैं कि पूछिए मत. BEST के एक अधिकारी ने बताया कि टिकटों की बिक्री से आने वाली रकम में 70 प्रतिशत सिक्के ही होते हैं. हर रोज लगभग 2 करोड़ की टिकटों की बिक्री होती है. इनमें ज्यादातर 5 रूपए के सिक्के होते हैं. इन भारी-भरकम सिक्कों को दिनभर ढोना और संभालना मुश्किल होता है. दिन के अंत बैंक में जमा करने के लिए इनकी गिनता करना और भी ज्यादा मुश्किल हो जाता है. हालांकि सितंबर 2019 में BEST ने सिक्के गिनने की मशीन खरीद कर 27 डिपो को उपलब्ध कराई है.

कोई चारा न देख BEST ने दिसंबर 2018 से अपने कर्मचारियों को वेतन में से 500 रूपए सिक्कों में देना शुरू कर दिया है. BEST के पास सिक्कों की भरमार तब होनी शुरू हुई जब किराया कम किया गया. कम से कम 2 किमी की दूरी के लिए न्यूनतम किराया 5 रुपये, 8 रूपए और 10 रुपए निर्धारित है. BEST के अधिकारियों ने बताया कि सिक्कों को साथ लेकर चलना मुश्किल होता है. कंडक्टरों की ओर से ढेर सारे सिक्कों के वजन को लेकर भी शिकायत की गई है.

BEST के मुताबिक बैंकों में जमा किए 10 करोड़ रुपये के सिक्कों  के बदले नोट मिलना मुश्किल हो रहा है. BEST की ओर से बैंकों को 13 बार चिठ्ठी लिखी जा चुकी है. इन बैंकों में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया, कैनरा बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, बैंक ऑफ बरोदा और तीन कोऑपरेटिव बैंक शामिल हैं. अब बेस्ट ने RBI से संपर्क किया है. RBI की ओर से भी जवाब नहीं दिया गया है.

BEST के जनरल मैनेजर सुरेंद्र कुमार बागड़े ने बताया कि हम RBI से बातचीत कर रहे हैं. जल्द ही समाधान निकालने की कोशिश कर रहे हैं. जब तक समस्या का समाधान नहीं निकलता तब तक हम यात्रियों से आग्रह करेंगे कि संभव हो तो डिजिटल पेमेंट करें. 31 दिसंबर को BEST मैनेजमेंट ने इस समस्या के बारे में RBI को अनौपचारिक रूप से अवगत करा दिया था.

ये भी पढ़ें

गगनयान में बैठ अंतरिक्ष जाने वाले भारतीयों को मिलेगा लजीज खाना, पढ़ें क्‍या है मेन्‍यू

‘ऑपरेशन मेघदूत’ से सियाचिन जीतने वाले ले. जनरल पीएन हून नहीं रहे, पढ़ें कैसा था वो मिशन