उद्धव ठाकरे के विरोध में आए शिरडी के लोग, इस बयान पर किया बेमियादी बंद का ऐलान

साईंबाबा संस्थान ट्रस्ट के एक सदस्य ने बताया कि साईं के जन्मस्थल को लेकर चल रही अफवाहों के खिलाफ लोगों ने 19 जनवरी से सिरडी बंद करने का ऐलान किया है.

शिरडी की जनता महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से नाराज हो गई है, वजह है उनका साईं की जन्मभूमि को लेकर किया गया ऐलान. नाराजगी की वजह से लोगों ने शिरडी बंद का ऐलान कर दिया है.

दरअसल 9 जनवरी को उद्धव ठाकरे औरंगाबाद गए थे. वहां उन्होंने साईंबाबा के कथित जन्म स्थल पाथरी के विकास के लिए 100 करोड़ रुपये देने की बात कही. शिरडी के लोग अब ठाकरे के इस ऐलान का विरोध कर रहे हैं. लोगों ने ये कह डाला कि अगर उद्धव सरकार अपना फैसला वापस नहीं लेती तो वो सब कोर्ट जाएंगे.

साईंबाबा संस्थान ट्रस्ट के एक सदस्य ने बताया कि साईं के जन्मस्थल को लेकर चल रही अफवाहों के खिलाफ लोगों ने 19 जनवरी से सिरडी बंद करने का ऐलान किया है.

उद्धव ठाकरे की बातों से साईं भक्तों की आस्था को ठेस पहुंची है. उनके मुताबिक साईं ने कभी भी अपने जन्म, धर्म या पंथ के बारे में जिक्र नहीं किया. वो सर्वधर्मसमभाव को मानते थे. उद्धव ठाकरे ने गलत बात कही है. यहां तक कि साईं चरित्र में भी उनके माता-पिता, जन्मस्थान या धर्म का कोई जिक्र नहीं है.

साईं मंदिर के पूर्व ट्रस्टी अशोक खांबेकर ने कहा कि उद्धव ठाकरे को साईं सत चरित्र पढ़ना चाहिए उसके बाद फैसला लेना चाहिए.

खांबेकर के मुताबिक अक्टूबर 2018 में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी साईं जन्मस्थल को लेकर ऐसी ही बात कही थी. उन्होंने कहा था कि साईं जन्मभूमि पाथरी के विकास के लिए काम करेंगे. उस समय भी इस बात का विरोध हुआ था.

ये भी पढ़ें-

दिल्ली विधानसभा चुनाव: टिकट बंटवारे में BJP ने 20 नए चेहरों पर लगाया दांव

Delhi Elections 2020: BJP ने 57 सीटों पर उतारे उम्मीदवार, जानें किसे, कहां से मिला टिकट