उद्धव सरकार के आरोपों को फडणवीस ने नकारा, कहा-फोन टैपिंग महाराष्ट्र का कल्चर नहीं

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने गुरुवार को कहा कि अगर फोन टैपिंग की बात सच है तो यह सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग है.
Phone tapping of opposition, उद्धव सरकार के आरोपों को फडणवीस ने नकारा, कहा-फोन टैपिंग महाराष्ट्र का कल्चर नहीं

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद और सरकार बनने के पहले शिवसेना और एनसीपी के कई नेताओं की फोन टैंपिंग का मामला सामने आया है. महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने पिछली सरकार पर आरोप लगाया है. इस पर महाराष्ट्र के पूर्व CM देवेंद्र फडणवीस ने अपनी प्रतिक्रिया दी है.

देवेंद्र फडणवीस ने फोन टैपिंग के आरोपों का खंडन करते हुए कहा है कि उनके कार्यकाल में किसी की भी फोन टैपिंग नहीं हुई है. ये महाराष्ट्र की राजनीतिक संस्कृति का हिस्सा नहीं है. आरोप लगाने वालों की क्रेडिबिलिटी की जानकारी पूरे राज्य को है. गृह मंत्रालय राज्य सरकार के पास ही है, अगर उन्हें हम पर शक है तो वो जांच करा सकती है.

बता दें कि महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने गुरुवार को कहा कि अगर फोन टैपिंग की बात सच है तो यह सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग है. फिलहाल, महाराष्ट्र पुलिस के साइबर सेल को जांच के लिए कहा गया है. साथ ही उन्होंने पिछली सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि इस दौरान मुंबई साइबर सेल को ट्रेनिंग के लिए इसराइल भेज दिया गया था.

सीएम उद्धव ठाकरे ने इस मामले में शुक्रवार को जांच के आदेश दिए हैं. सूत्रों का कहना है कि एनसीपी प्रमुख शरद पवार, उद्धव ठाकरे और संजय राउत जैसे कई गैरबीजेपी नेताओं के फोन टैप किए गए थे.

इस पर शिवसेना नेता संजय राउत ट्वीट कर कहा कि मुझे भाजपा के एक वरिष्ठ मंत्री ने बताया था कि आपके फोन टैप हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि भाई साहेब..मेरी बात अगर कोई सुनना चाहता है. तो स्वागत है..मै बाळासाहेब ठाकरेजी का चेला हूं. कोई बात या काम छुप-छुपकर नहीं करता.

ये भी पढ़ें –  अन्ना हजारे की बदौलत सीएम बने केजरीवाल, लोकपाल कानून तक नहीं लाए- गृह मंत्री अमित शाह

Related Posts