IPS को क्वारंटीन करने पर BMC बोली- गुमराह कर रही बिहार पुलिस, मुंबई कमिश्नर बोले- हुए 56 के बयान दर्ज

BMC ने कोरोनावायरस (Coronavirus) की गाइडलाइंस का हवाला देते हुए देर रात 15 अगस्त तक के लिए IPS विनय तिवारी को क्वारंटीन कर दिया. बीएमसी के एक्शन से बिहार पुलिस (Bihar Police) हैरान रह गई क्यूंकि पहले से जो अधिकारी वहां मौजूद हैं उन्हें क्वारंटीन नहीं किया गया.
BMC Clarification on BIhar Cop IPS Vinay Tiwari Quarantine, IPS को क्वारंटीन करने पर BMC बोली- गुमराह कर रही बिहार पुलिस, मुंबई कमिश्नर बोले- हुए 56 के बयान दर्ज

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) मामले में जहां बिहार पुलिस (Bihar Police) और मुंबई पुलिस (Mumbai Police) आमने-सामने हैं. अब इस मामले में एक नया विवाद शुरू हो गया है. मामले की तफ्तीश को बढ़ाने के लिए पटना के एसपी विनय तिवारी कल शाम बिहार पुलिस की टीम को लीड करने के लिए मुंबई पहुंचे.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

वहीं BMC ने कोरोनावायरस (Coronavirus) की गाइडलाइंस का हवाला देते हुए देर रात 15 अगस्त तक के लिए क्वारंटीन कर दिया. बीएमसी ने बिहार पुलिस पर एंजेसियों को गुमराह करने का आरोप भी लगाया. बीएमसी के एक्शन से बिहार पुलिस हैरान रह गई क्योंकि पहले से जो अधिकारी वहां मौजूद हैं उन्हें क्वारंटीन नहीं किया गया.

कोरोना गाइडलाइंस के चलते किया ऐसा

मामले को तूल पकड़ता देख बीएमसी (BMC) ने IPS अधिकारी को क्वारंटीन करने पर सफाई पेश की है. एक आधिकारिक बयान BMC की तरफ से मीडिया के साथ साझा किया गया है. इसमें बीएमसी ने लिखा है कि मुंबई के गोरेगांव इलाके में स्थित जिस CRPF कैम्प में IPS विनय तिवारी को रखा गया है, वो बीएमसी के पी साउथ वॉर्ड के अंतर्गत आता है. ऐसे में घरेलू उड़ान की यात्रा के चलते कोरोना गाइडलाइन्स का पालन करते हुए बीएमसी ने विनय तिवारी को होम क्वारंटीन में रहने की सलाह दी है. इसके साथ ही उनके हाथ पर स्टैम्प लगाया है.

उन्हें इस बात की भी जानकारी दी गई है कि वो किस तरह होम क्वारंटीन से छूट के लिए आवेदन कर सकते हैं और बीएमसी से संपर्क कर सकते हैं. कुल मिलाकर BMC के इस रवैये पर कई सवाल खड़े हो गए हैं. अब बिहार के DGP ने बीएमसी की इस हरकत पर नाराजगी जताते हुए महाराष्ट्र के डीजीपी से बात करने की बात कही है.

मुंबई पुलिस कमिश्नर ने जारी किया बयान

मुम्बई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने सुशांत सुसाइड केस मामले में बयान जारी किया है. उन्होंने कहा है कि अभी तक जो भी जांच की गयी है डिटेल में की गई है. एक्सपर्ट से संपर्क साधा गया है साथ ही डॉक्टर की टीम से भी संपर्क किया गया है. इस मामले में कुल 56 बयान दर्ज किए गए है.

मामले में एक्सिडेंटल डेथ का केस दर्ज किया गया था. 14 जून को CRPC की धारा 174 के तहत ADR दर्ज कर जांच शुरू की गई. केस में डिटेल इन्वेस्टिगेशन किया गया और जांच अब भी जारी है. अभी तक हम निष्कर्ष पर नहीं पहुचे हैं. ऐसे केस में दो ही चीज़ें होती हैं. पहला या तो सुसाईड केस ADR या फिर आपराधितक मामला दिखाई देने पर IPC की धारा के तहत कार्रवाई की जाती है.

अमृता फडणवीस ने किया ट्वीट

वहीं मामले पर अमृता फडणवीस ने ट्वीट करते हुए कहा कि सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस को जिस तरह से संभाला जा रहा है – मुझे लगता है कि मुंबई ने मानवता खो दी है और जीने के लिए ये और अधिक सुरक्षित नहीं है. निर्दोष, स्वाभिमानी नागरिकों के लिए.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts