शिवसेना-NCP मान लें ये शर्तें तो समर्थन दे देगी कांग्रेस

मल्लिकार्जुन खडगे को शिवसेना के साथ गठबंधन का आइडिया पसंद नहीं था. फिर अशोक चव्‍हाण, पृथ्वीराज चव्हाण और सुशील कुमार शिंदे ने सोनिया को मनाया.

Maharashtra Government Formation: महाराष्‍ट्र का राजनीतिक घटनाक्रम बेहद तेजी से बदल रहा है. शिवसेना और NCP के बीच खिचड़ी लगभग पक चुकी है. कांग्रेस ने भी समर्थन का मन बना लिया है मगर वह शिवसेना के साथ खड़े होने से पहले कुछ गारंटी चाहती है. पार्टी ने कई दौर की बैठकों के बाद समर्थन के लिए तीन पन्‍नों का एक दस्‍तावेज तैयार किया है.

Maharashtra Government Formation : ये हैं कांग्रेस की शर्तें

  • कॉमन मिनिमम प्रोग्राम.
  • कोऑर्डिनेशन कमेटी.
  • पावर शेयरिंग फॉर्मूला. हर 4 विधायक पर एक मंत्रालय और स्‍पीकर कांग्रेस का.
  • म्‍यूनिसिपल कॉर्पोरेशन के लिए फॉर्मूला कांग्रेस का.
  • कांग्रेस को महामंडलों का डिस्‍ट्रीब्‍यूशन भी चाहिए.
  • बयान ये होगा कि किसानों का दर्द दूर करने और बीजेपी को किनारे रखने के लिए सरकार बना रहे हैं.
  • सारी चिट्ठियां कल (बुधवार) दी जाएंगी, आज नहीं.

रिपोर्ट के मुताबिक, मल्लिकार्जुन खडगे को शिवसेना के साथ गठबंधन का आइडिया पसंद नहीं था. फिर अशोक चव्‍हाण, पृथ्वीराज चव्हाण और सुशील कुमार शिंदे ने सोनिया को मनाया. सोनिया गांधी ने खुद 15 विधायकों को फोन कर उनकी राय जानी. अधिकतर विधायकों ने सरकार का हिस्‍सा बनने की इच्‍छा जताई.

कांग्रेस नहीं चाहती कि शिवसेना का सीएम ठाकरे परिवार से हो. ताकि वह रिमोट कंट्रोल की तरह ना रहे. कांग्रेस को लगता है कि महाराष्‍ट्र की नई सरकार कुछ ऐसी हो जिसमें- शिवसेना ड्राइविंग सीट पर होनी, NCP के पास चाबी हो और कांग्रेस के पास अलग ब्रेक सिस्‍टम हो.

ये भी पढ़ें

महाराष्ट्र के बाद इस राज्य में भी अपनों से परेशान है बीजेपी

शिवसेना, मास्टर स्ट्रैटेजिस्ट से ले रही थी ज्ञान, देख लीजिए नतीजा; जेडीयू नेता ने किस पर कसा तंज