VIDEO: बुलेट ट्रेन से भी ज्यादा तेज है बाप-बेटे की इस जोड़ी की याददाश्त

एक तरफ जहां उम्र के हर दराज के लोग सिर्फ 17 के पहाड़े में अटक जाते हैं, वहीं छोटे से प्रीत और उनके पापा याददाश्त के मामले में एक दूसरे को टक्कर दे रहे हैं.

अगर आप किसी आदमी को कोई काम सौंप दें और कुछ देर बाद उस काम की अपडेट पूछें तो 90 फीसदी तक एक सा ही जवाब मिलता है. जवाब है हम भूल गए. इस भूल गए से अब तक किसी को इजात नहीं मिल पाया है. बादाम खाने से याददाश्त बढ़ेगी, ऐसे तमाम नुस्खे भी भूल जाने की आदत से छुटकारा नहीं दिला सकते.

मगर याददाश्त से जुड़े हर मामले को बाप-बेटे की एक जोड़ी ने मात दे दी है. इस जोड़ी में शामिल पिता को देश की सभी 543 लोकसभा सीटों के नाम याद हैं तो वहीं बेटे को 200 से ज्यादा देशों का नाम याद हैं. नाम भी ऐसे वैसे नहीं बल्कि ये दोनों सभी लोकसभा सीटों और देशों के नाम बिना रुके बोल जाते हैं.

ये बाप-बेटे की जोड़ी महाराष्ट्र रहवासी है, जिसमें पिता का नाम है राजेश शिरोडकर और बेटे का नाम है प्रीत शिरोडकर. तो आलम ये है कि एक तरफ जहां उम्र के हर दराज के लोग सिर्फ 17 के पहाड़े में अटक जाते हैं, वहीं छोटे से प्रीत और उनके पापा याददाश्त के मामले में एक दूसरे को टक्कर दे रहे हैं.