सूटकेस में मिली थी लड़की की सिरकटी लाश, पिता ही निकला हत्यारा

पुलिस ऑनर किलिंग के एंगल से हत्या की जांच कर रही है.
Body found at Kalyan railway station, सूटकेस में मिली थी लड़की की सिरकटी लाश, पिता ही निकला हत्यारा

ठाणे के कल्याण इलाके में सूटकेस में मिली लड़की की सिरकटी लाश की गुत्थी मुंबई पुलिस ने सुलझा ली है. लड़की का हत्यारा और कोई नहीं बल्कि उसका पिता है. हत्या के बाद सूटकेस में लाश डालकर ऑटो रिक्शे में रखकर फरार हो गया था. ये ऑनर किलिंग का मामला है, लड़की का प्यार पसंद न आने पर पिता ने अपनी बेटी की हत्या कर दी.

पुलिस ने घटना की जानकारी देते हुए कहा कि एक शख्स ने सुबह  तकरीबन 5.25 बजे भिवंडी की तरफ जाने के लिए कल्याण स्टेशन पर ऑटो रिक्शा पकड़ा. उसने एक सूटकेस पकड़ रखा था जिससे बदबू आ रही थी. ऑटो चालक ने बदबू का कारण पूछा तो शख्स मौके पर ही सूटकेस छोड़कर फरार हो गया.

ऑटो चालक ने आस-पास के ऑटो वालों को इकट्ठा करके सूटकेस खोला तो अंदर से महिला की लाश मिली जिसे तीन जगह से काटा गया था. ठाणे पुलिस ने सूचना मिलते ही जांच शुरू कर दी लेकिन उसके पास कोई सुराग नहीं था. महिला का सिर बरामद नहीं हुआ था इसलिए पहचान नहीं की जा सकी. अब उसे कल्याण स्टेशन के पास लगे सीसीटीवी फुटेज का सहारा था.

पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की जांच की तो पता लगा कि सूटकेस लिए आरोपी टिटलासा रेलवे स्टेशन से ट्रेन पर सवार हुआ था. पुलिस टीम ने टिटवाला स्टेशन पहुंचकर उस ड्राइवर से बात की जिसकी गाड़ी में आरोपी सूटकेस लेकर सवार हुआ था. आस-पास के ड्राइवरों को तस्वीर दिखाकर पूछताछ की तो आरोपी के बारे में पता चला, पुलिस ने आरोपी को उसके घर जाकर अरेस्ट कर लिया.

परिवार का सहारा बनने आई थी पुणे

पुलिस जांच में सामने आया कि मृत लड़की का नाम प्रिंसी तिवारी है. हाल ही में उसने ग्रेजुएशन पूरा किया था और अब नौकरी करके परिवार का सहारा बनना चाहती थी. उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले से चार महीने पहले ही पुणे आई थी, उसे एक प्राइवेट फर्म में क्लर्क की नौकरी मिल भी गई थी. लड़की का पिता अरविंद तिवारी टिटवाला में अकेले ही रहता है, पत्नी और चार बेटियां जौनपुर में रहती हैं.

बताया जा रहा है कि कुछ समय पहले यहां प्रिंसी किसी शख्स के साथ रिलेशनशिप में आ गई, पिता ने सख्ती से इसका विरोध किया. पिता को सामाजिक बदनामी का डर था और चिंता थी कि इस रिश्ते से बाकी बेटियों की शादी पर असर पड़ेगा. कई बार रोक-टोक के बाद बेटी नहीं मानी तो पिता ने उसे मौत के घाट उतार दिया और सूटकेस में भरकर लाश को ठिकाने लगा दिया. 47 वर्षीय अरविंद तिवारी ने पूछताछ में स्वीकार किया कि प्रिंसी उसकी बेटी है और यह उसी की लाश है. लाश के बाकी टुकड़ों का पता लगा ने के लिए पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है.

ये भी पढ़ेंः

भोपाल के स्कूल में मिली युवक की जंजीरों से बंधी जली हुई लाश, जांच में जुटी पुलिस

Related Posts